मरार समाज एक प्रगतिशील समाज है: डॉ. रमन सिंह

०० मुख्यमंत्री ने शाकम्भरी महोत्सव एवं अभिनंदन समारोह को संबोधित किया

०० महासमुंद, सरायपाली, सारंगढ़ और गरियाबंद में मरार समाज के भवन निर्माण के लिए दस-दस लाख रूपए की घोषणा

०० राजधानी रायपुर में कन्या छात्रावास के लिए 20 लाख रूपए मंजूर करने का ऐलान

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज यहां इंडोर स्टेडियम में सर्व मरार समाज द्वारा आयोजित शाकम्भरी महोत्सव और अभिनंदन समारोह में शामिल हुए। उन्होंने मुख्य अतिथि की आसंदी से समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा मरार समाज मेहनतकश समाज है जो अपनी मेहनत से  आज  एक प्रगतिशील  समाज  के रूप में आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ के विकास में मरार समाज की  महत्वपूर्ण भूमिका है उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने देश  में पहली बार  शाकम्भरी  माता केनाम पर मराज समाज के उन्नति के लिए योजना चलाई इसका समाज को भरपूर फायदा मिला है। डॉ. सिंह आज स्थानीय इंडोर स्टेडियम में उन्होंने इस अवसर पर शाकम्भरी माता की पूजा अर्चना कर उनसे  प्रदेश की समृद्धि और खुशहाली का आशीर्वाद मांगा

मुख्यमंत्री ने महासमुंद, सरायपाली, सारंगढ़ और गरियाबंद में मरार समाज के भवन के लिए दस-दस लाख रूपए और राजधानी रायपुर में कन्या छात्रावास के लिए  बीस लाख रूपए की स्वीकृति की घोषणा की। उन्होंने कहा कि मरार समाज के युवाओं को आधुनिक उद्यानिकी खेती के लिए  कौशल विकास प्रशिक्षण दिया जाएगा, इसके जरिए युवाओं को कृषि विज्ञान केन्द्र और कृषि महाविद्यालयों में  तीन माह का प्रशिक्षण देने के लिए विशेष कोर्स प्रारंभ कियाजाएगा। जिसमें 18 से 45 साल के युवा प्रशिक्षण ले सकेंगे। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष  गौरीशंकर अग्रवाल और कृषि तथा  जल संसाधन मंत्री  बृजमोहन  अग्रवाल,  सर्व मरार पटेल समाज के संयोजक श्री राजेन्द्र नायक, गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष बिशेसर पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष कवर्धा श्रीसंतोष पटेल , कृषक कल्याण आयोग के सदस्य श्री बसंत पटेल, श्री राधेश्याम पटेल, श्री मन्नुलाल पटेल, पर्यटन विकास निगम के सदस्य श्री देवचरण पटेलसहित मरार समाज के अनेक पदाधिकारी और बड़ी संख्या में सामाजिक बन्धु उपस्थित थे। इस अवसर पर सर्वमराज समाज की ओर से मुख्यमंत्री को अभिनंदन पत्र भेंट  कर सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज के लोग सम्मानपूर्वक व्यवसाय कर सकें इसके लिए पसरा शुल्क समाप्त किया गया है। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में यहशुल्क समाप्त हो गया है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों को लेकर कुछ विसंगति है, इसे दूर करने के लिए जल्द ही अधिसूचना संशोधन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में गरीब परिवारों को खाद्यान्न  सुरक्षा देने के लिए भोजन का अधिकार दिया गया है। उन्होंने कहा-मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना में में 55लाख परिवारों को 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है। इस योजना में गरीबी अमीरी का कोई बंधन नहीं रखा गया है। उन्होंने कहा -प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना की शुरूआत की है, इस योजना में गरीब परिवारों को 5 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा मिलेगी। इसयोजना में छत्तीसगढ़ के 37 लाख परिवारों को लाभ मिलेगा। योजना में लीवर, किडनी, कैंसर जैसी बीमारियों का इलाज करा सकेंगे। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रदेशमें सड़कों का जाल बिछाया गया है। इसका लाभ मरार समाज के लोगों को भी मिल रहा है। सिंचाई पम्पों के लिए 7500 यूनिट तक निःशुल्क बिजली दी जा रहीहै। सोलर सिंचाई पम्प काफी कम कीमत पर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। ड्रिप और स्प्रिंकलर से सिंचाई को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि मरार समाज को समय के साथ तेजी से आगे बढ़ने के लिए युवाओं को उच्च शिक्षा के साथ हीबालिका शिक्षा की ओर भी ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा – वही समाज आगे बढ़ता है, जहां बेटियों को शिक्षित किया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश मेंबालिकाओं की शिक्षा के लिए अनेक कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। इनका भरपूर लाभ समाज को उठाना चाहिएकृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राज्य शासन द्वारा किसानों के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। जिनका लाभ मरार समाज के लोगों को भी मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मरार समाज  के पढ़े-लिखे युवाओं को उद्यानिकी खेती खेती के आधुनिक तौर-तरीके अपनाना होगा। जिससे तेजी से  मरार समाज आगे बढ़ सके। उन्होंने बताया कि ड्रिप स्प्रिंकलर जैसे कई आधुनिक खेती के साधनों  पर राज्य सरकार की ओर से अनुदान दिया जा रहा है।

 

error: Content is protected !!