धमाका 36 की खबर के बाद जागा प्रशासन,  दर्जनों ईंट भट्ठों के खिलाफ की जप्ती की कार्रवाई

०० सारंगढ़ क्षेत्र के अवैध ईंट भट्ठों को लेकर धमाका 36 ने किया था प्रमुखता से समाचार का प्रकाशन

०० भंवरपुर में संचालित अवैध ईंट भट्ठों में तहसीलदार ने दी दबिश, की जप्ती की कार्यवाही

दिनेश जोल्हे

सारंगढ़| रायगढ़ जिले के सारंगढ विकासखंड में शासकीय एव निजी भूमि में धड़ल्ले से अवैध ईट भट्ठा संचालित हो रहे हैं। जसको लेकर कई क्षेत्र के ईट भट्ठा की खबर प्रकाशित की गई थी, इसके बाद जहां खनिज अधिकारी के कानों में जू तक नहीं रेंगी वही तहसीलदार के नेतृत्व पर भंवरपुर में अवैध रूप से चल रहे ईट भट्टे पर कार्रवाई किया है, इससे अवैध ईट निर्माण करने वालों में दहशत का माहौल है। 

यहां के लोगों द्वारा शासकीय एव निजी भूमि पर अवैध रूप से पिछले 15 वर्षों से ईट का निर्माण किया जा रहा था ।हालत यह है कि लोगों के पशुओं के लिए चारागाह तक के लिए जगह नहीं बची है। जबकि ईट भट्ठा संचालक मोटी कमाई कर रहे हैं। यह कारोबार खनिज विभाग की मेहरबानी पर हो रहा है।इससे खजिन अधिकारी तो खुश हैं, लेकिन शासन को लाखों की रायल्टी का नुकसान हो रहा है।

दर्जनों भट्ठा संचालक कार्रवाई से दूर:- विकासखंड अंतर्गत पहंदा, लेन्ध्रा ,जुनाडीह ,छिन्द ,माधोपाली भड़िसार,केराड में सैकड़ो और ईट भट्ठा तेजी से फल-फूल रहे हैं। स्थानीय प्रशासन की टीम ने अभी तक पहंदा और भंवरपुर दो क्षेत्रों में ही कार्रवाई किया, जबकि क्षेत्र के कई ईट भट्ठे अभी भी कार्रवाई से दूर हैं और उनका धंधा लगातार जारी है।

बढ़ रहा प्रदूषण :- ईट भट्ठे से निकलने वाले धुएं से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। ईठ भट्ठे लगातार प्रदूषण फैला रहे हैं, लेकिन न तो पर्यावरण और  खनिज विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। 

 

 

error: Content is protected !!