दूषित पेयजल की सप्लाई से कोटा मे फैली अज्ञात बीमारी

०० गरीब परिवार का बच्चा हुआ शिकार, नगर पंचायत गहरी नींद मे

 “नगर पंचायत कोटा के द्वारा पानी सप्लाई की जाती है उस पाइप लाइन फटी हुई है जिससे  की कई प्रकार की दूषित पानी टूटी पाइप लाइन से आ रही है जिससे कि लोग बीमार पड़ रहे हैं

करगीरोड कोटा। नगर पंचायत कोटा के वार्ड नंबर 11 एवम 13 में जल की पाइप लाइन द्वारा कई दिनों से प्रवाहित दूषित पानी पीने से वार्ड नंबर 11 निवासी आनंद सोनी उर्फ पटवारी गुड्डू के 12 वर्षीय पुत्र सुजल सोनी की स्थिति काफी गंभीर हैं। गंभीर स्थिति होने के कारण उसे बिलासपुर सिम्स रेपर किया गया, सिम्स से निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है। सूत्रों से पता चला है कि लगातार कई दिनों से नगर पंचायत की पाइपलाइन में पीने के पानी की जगह नाली का पानी एवं मल-मूत्र मिला हुआ पानी वार्ड नंबर 13 और 11 के घरों में कई दिनों से सप्लाई हो रहा था,। जिसकी सूचना नगर पंचायत कोटा में अध्यक्ष मुरारी लाल गुप्ता को भी इसकी जानकारी  दिया जा चुका है  उसके बाद भी उसके द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया  यह तो हाल है नगर पंचायत कोटा का?

कुमारी सागर राज मुख्य नगर पंचायत अधिकारी (सीएमओ) को वार्डवासियों द्वारा कई बार दी जा चुकी है, उसी प्रवाहित जल के उपयोग करने से वार्ड नंबर 11 में रहने वाले आनंद कुमार सोनी उर्फ पटवारी गुड्डू के सुपुत्र सुजल सोनी को काफी गंभीर दशा में बिलासपुर में भर्ती किया गया है । जानकारी के अनुसार बच्चे की गंभीर स्थिति का कारण ,दूषित जल का उपयोग है जिसके कारण होने वाले इन्फेक्शन से वर्तमान में बच्चा 2 दिन से कोमा की अवस्था में है। उसे कभी होश आता है,कभी चला जा रहा है । जिसे की संज्ञान लेकर कांग्रेस नेता शैलेश पांडेय ने आज बच्चे के बारे में गंभीरता दिखाते हुए उसकी सुध ली एवम अस्पताल प्रबंधन से बात कर चिकित्सा में किसी प्रकार की लापरवाही न होने के निर्देश दिए साथ साथ पीड़ित परिवार को आर्थिक संबल भी प्रदान किया । पीड़ित बच्चे के अभिभावकों अनुसार बच्चे की गंभीर दशा का कारण दूषित जल को बताया गया । इस प्रकार की घटना होने से वार्ड वासियो में नगर पंचायत की लचर व्यवस्था पर काफी रोष देखा जा रहा है। ज्ञात हो कि नगर पंचायत कोटा द्वारा पूरे छत्तीसगढ़ में कुव्यवस्था को लेकर रिकॉर्ड बनाने की दौड़ में सबसे आगे है।नगर पंचायत की कुव्यवस्था से जनता पूर्णतः त्रस्त है, चुकि नगर पंचायत अध्यक्ष सत्ता पक्ष से है इसलिए जनता की मूलभूत मांगो को भी नजरअंदाज करना इनके मिजाज में है , नगर पंचायत की अनदेखी व्यवस्था एवं कमीशनखोरी वाली व्यवस्था को लेकर पूर्व में भी पार्षदों ,जन प्रतिनिधियो व पत्रकारो द्वारा जमकर रोष व शिकायते की जा चुकी है। पीड़ित परिवार के संबंध में यह बताया गया कि यह परिवार काफी निर्धन है और पीड़ित परिवार की आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो जाने के कारण वह बच्चे का सही ढंग से इलाज भी नहीं करा पा रहा है ।जिसको की संज्ञान मे लेकर कुछ वार्ड वासियों एवम कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश पांडेय द्वारा सहयोग से उसका इलाज किया जा रहा है। बच्चे की पूर्ण इलाज के बाद नगर पंचायत कोटा की कुव्यवस्था के विरोध में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी कोटा के तत्वाधान में धरना प्रदर्शन करने की भी तैयारी की जा रही है।

 

error: Content is protected !!