मुख्यमंत्री ने झीरम हमले में दिवंगत नेताओं और नागरिकों को दी श्रद्धांजलि

०० पुण्यतिथि पर कहा, हम सब उनके परिवारों के दुःख में सहभागी

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने झीरम घाटी के नक्सल हमले में दिवंगत वरिष्ठ नेताओं और आम नागरिकों की पुण्य तिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने कहा है कि इन सभी दिवंगतों के परिवारों के दुःख में हम सब सहभागी हैं। नक्सलियों ने बस्तर जिले के झीरमघाटी इलाके में 25 मई 2013 को अपनी कायरतापूर्ण हिंसक वारदात को अंजाम दिया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और दुनिया भर में नक्सलियों की इस घिनौनी हरकत की कड़ी निन्दा हुई थी। नक्सलियों ने जनप्रतिनिधियों और आम नागरिकों के शांतिपूर्ण काफिले पर इस कायरतापूर्ण हमले के जरिए अपनी लोकतंत्र विरोधी घृणित मानसिकता का परिचय दिया था। डॉ. सिंह ने कहा-झीरमघाटी के नक्सल हमले में मारे गए सभी लोग हमारे अपने लोग थे। इस प्रदेश के विकास में उन सबका अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान था। डॉ. रमन सिंह ने झीरम हमले में मारे गए पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री विद्याचरण शुक्ल, पूर्व सांसद, प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री श्री महेन्द्र कर्मा, पूर्व मंत्री और विधायक श्री नंदकुमार पटेल और पूर्व विधायक श्री उदय मुदलियार सहित सभी दिवंगतों को नमन करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है। डॉ. सिंह ने कहा-केन्द्र और राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ से नक्सलवाद को हमेशा के लिए खत्म करने का संकल्प लिया है। मुझे विश्वास है कि आम जनता के सहयोग से हम सब मिलकर वर्ष 2022 तक राज्य को नक्सल मुक्त करने में जरूर सफल होंगे। उन्होंने कहा-लोकतंत्र और सभ्य समाज में हिंसा और आतंक का कोई स्थान नहीं है।डॉ. सिंह ने प्रदेशवासियों से नक्सल आतंक का मुकाबला करने के लिए एकजुट रहने की अपील की है।

 

error: Content is protected !!