प्रदेश में राष्ट्रीय स्तर का बहुविकलांगता केन्द्र स्थापित किया जाएगा: बृजमोहन अग्रवाल

०० छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद की कार्यकारिणी की बैठक आयोजित

रायपुर| छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल की अध्यक्षता में आज यहां उनके शासकीय आवास में परिषद कीे कार्यकारिणी की बैठक हुई। श्री अग्रवाल ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद प्रदेश में बालक-बालिकाओं के कल्याण के लिए निरंतर कार्यरत है। परिषद द्वारा राजधानी में राष्ट्रीय स्तर का एक ऐसा बहुविकलांगता केन्द्र स्थापित किया जाएगा जहां पर दिव्यांगों के देखरेख और निदान की आधुनिकतम सुविधा होगी। साथ ही वहां पर उन्हें सक्षम बनाने के लिए विशेष प्रशिक्षण की भी व्यवस्था होगी। इसकी संरचना इस प्रकार की जाएगी, जो पूरे देश में विलक्षण केन्द्र के रूप में जाना जाएगा। उन्होंने छह महीनों के भीतर उक्त केन्द्र को क्रियाशील करने के निर्देश दिए।

अग्रवाल ने कहा कि बालक-बालिकाओं के सर्वांगीण विकास के लिए बाल भवन की स्थापना की जाएगी, जहां पर उनके कल्याण संबंधित अन्य कार्य के अलावा प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। श्री अग्रवाल ने कार्यकारिणी की नये सदस्यों का स्वागत किया और कहा कि उनकी नई कार्यकारिणी बाल कल्याण परिषद के उद्देश्यों को पूर्ण करते हुए एकजूट होकर कार्य करें।इस अवसर पर पिछले बैठक का पालन-प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया और वर्ष 2018-19 के बजट का प्रस्ताव पारित किया गया। इसके साथ ही आंगनबाड़ी प्रशिक्षण केन्द्र माना, जगदलपुर, धरमजयगढ़, पेण्ड्रा रोड में अतिरिक्त कक्ष के निर्माण और भवन के मरम्मत करने के निर्देश दिए गए। परिषद में एक स्थायी कमेटी के गठन और बाल भवन माना कैम्प के अपूर्ण कार्य को पूर्ण करने का प्रस्ताव पारित किया गया। इस बैठक में महासचिव श्री अशोक त्रिपाठी, पूर्व महासचिव श्री मोहन चोपड़ा, श्री सोहनलाल डागा, श्री पी.एस. सोती, संयुक्त सचिव श्रीमती इंदिरा जैन, सर्वश्री प्रकाश अग्रवाल, प्रीतेश गांधी, कोषाध्यक्ष श्री अजय त्रिपाठी, कार्यकारिणी सदस्य डॉ. सोमनाथ यादव, श्री राजेन्द्र निगम, श्री चन्द्रेश शाह, और श्री जे.पी. साबू, श्री एस.सी. धीर, श्रीमती हेमलता चन्द्राकर, श्री प्रेमलाल सिंह, श्री संजीव बंसद हुद्दार उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!