चिलचिलाती धुप के बावजूद राहुल गाँधी की सभा में उमड़ा जनसैलाब

०० कोटमी में गांधी-नेहरू परिवार के राहुल गांधी को देखने उमड पड़े गांव का गांव

०० एक हज़ार से भी अधिक वाहनों का लगा था हुजूम, 60 हज़ार से भी अधिक संख्या में पहुचे थे लोग

बिलासपुर| जंगल सत्याग्रह-आदिवासी किसान सम्मेलन में लोगो का हुजूम उमड़ पड़ा, हजारो की संख्या में पहुचे लोग कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी की एक झलक पाने के लिए बेताब नज़र आए, इस दौरान कोटमी के चारो ओर एक हज़ार से भी अधिक वाहनों की कतारे लगी रही|

राहुल गांधी के जंगल सत्याग्रह-आदिवासी किसान सम्मेलन के लिए पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री व छत्तीसगढ़ चुनाव समिति के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत व प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश पाण्डेय की देखरेख में पिछले तीन दिनों से वृहद तैयारियां की गई थी। राहुल की सभा के लिए 90 हजार वर्गफीट का डोम तैयार किया गया था। सभा में 26 हजार कुर्सियां भी लगवाई गईं थी। सभा में 60 हजार से अधिक लोगों के शामिल होने के आधार पर तैयारी थी। इस सभा में खास बात ये भी थी कि, पहली बार विशालकाय मंच पर राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के दिग्गज नेताओं सहित 30 लोगों ने मंच साझा किया। मई महीने की चिलचिलाती धूप में भी दूर-दूर से गांव की महिलाएं, पुरुष, बुजुर्ग, युवा लोग राहुल गांधी की एक झलक देखने और उन्हें सुनने के लिए ललायित हैं। देश की आजादी के बाद से आज तक यह कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है।इस क्षेत्र के लोग गांधी-नेहरू परिवार के लोगों के प्रति काफी आस्था रखते हैं यही कारण है कि गांधी-नेहरू परिवार के राहुल गांधी को देखने के लिए गांव का गांव कोटमी में उमड पड़े।

error: Content is protected !!