भाजपा सरकार का नारा ‘विकास आपका संकल्प हमारा’ डेढ़ दशक का सबसे बड़ा झूठ:कांग्रेस

०० पिछले तीन चुनावो के संकल्प पत्रों का हश्र जनता देख रही है

रायपुर। भाजपा सरकार के द्वारा निकाली जा रही विकास यात्रा के सूत्र वाक्य ‘विकास आपका संकल्प हमारा’ को कांग्रेस ने डेढ़ दशक का सबसे बड़ा झूठ बताया है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के संकल्पों से जनता का भरोसा उठ गया है। जब-जब भाजपा संकल्प की बात करती है जनता को एक नए फरेब का अहसास होने लगता है। पिछले तीन विधानसभा के चुनावो में भाजपा ने तीन बार संकल्प पत्र जारी किया था, तीन बार भाजपा को सरकार चलाने का जनता ने अवसर दिया लेकिन भाजपा ने अपने तीनो बार के संकल्प पत्रों के वायदों को पूरा नही किया। 2003 के चुनाव में भाजपा ने हर आदिवासी परिवार को एक गाय देने का वायदा किया, हर आदिवासी परिवार से एक को सरकारी नौकरी देने का वायदा किया था, हर बेरोजगार को बेरोजगारी भत्ता भी देने का वायदा किया था जो आज तक पूरा नही हुआ।

सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि 2008 के चुनाव में भी भाजपा ने फिर से एक बार संकल्प पत्र जारी किया इस बार किसानों को उनकी उपज धान पर बोनस देने का वायदा किया, किसानों को 5 हार्सपावर तक बिजली मुफ्त देने का वायदा किया, शिक्षाकर्मियों से संविलियन का वायदा किया, पांच साल बोनस के बदले सिर्फ चुनावी साल में बोनस दिया गया, किसानों के बिजली के दामो में दुगुनी बढ़ोत्तरी कर दी गयी। पिछले दो चुनावो के संकल्प पत्र के वायदों पूरा किये बिना 2013 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने बेशर्मीपूर्वक एक बार फिर से संकल्प लिया कि इस बार वे किसानों के एक-एक दाना धान की खरीदी करेंगे, धान का समर्थन मूल्य 2100 रु. प्रति क्विंटल करेगे, पूरे पाँच साल तक धान पर 300 रु. प्रति क्विंटल बोनस देंगे, किसान को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण देंगे, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को नियमित कर वेतन बढ़ाएंगे, शिक्षाकर्मियों का संविलियन करेंगे, युवाओं रोजगार के नए अवसर देंगे, छत्तीसगढ़ को आईटी हब बनायेगे। तीसरा कार्यकाल पूरा होने को है भाजपा 2013 के संकल्प भी जनता को मुंह चिढ़ा रहे है न धान का समर्थन मूल्य 2100 किया न और न ही पूरे पांच साल बोनस दिया, कांग्रेस के दबाव में बोनस दिया भी तो आधा अधूरा और आधे किसानों को, एक-एक दाना धान खरीदी के वायदे के बदले प्रति क्विंटल सिर्फ पन्द्रह क्विंटल की खरीदी की गई वह भी कांग्रेस और जनता के विरोध पर, सरकार की नीयत तो 10 क्विंटल धान खरीदने की थी। छत्तीसगढ़ को आईटी हब बनाने का संकल्प लेने वाली भाजपा राज्य में एक ढ़ंग की आईटी कंपनी नही स्थापित करवा पाई। युवाओं को रोजगार के अवसर देने के बदले प्रदेश के युवाओं के हितों पर कुठाराघात कर सरकारी सेवाओं में प्लेसमेंट एजेंसियों के माध्यम से आउटसोर्सिंग कर भर्तियां कर दी गयी। 2014 के लोकसभा चुनाव में हर साल 2 करोड़ युवाओं को नौकरी देने का संकल्प लेने वाली भाजपा के प्रधानमंत्री शिक्षित युवाओं को पकोड़ा तलने की सलाह दे रहे है। सुशासन का वायदा करने वाली भाजपा के राज्य में पिछले 14 साल से अधिक समय मे छत्तीसगढ़ भ्रष्टाचार का गढ़ बन गया, 36000 करोड़ का नान घोटाला, अगस्ता हेलीकाप्टर घोटाला, धान घोटाला, कुनकुरी, भदौरा, जलकी जमीन घोटालों से जनता त्रस्त हो गयी है, सुशासन का वायदा करने वाली भाजपा के राज्य में महिला अत्याचारों में बढ़ोतरी हुई, 27000 महिलायें-बच्चियां गायब हो गयी, बलात्कार की घटनाएं बढ़ गयी, झलियामारी जैसी मासूम बच्चियों से अनाचार की घटनाएं हो रही, अनुसूचित जाति-जनजाति के साथ अत्याचार की घटनाएं बढ़ गयी, आदिवासियो के संवैधानिक अधिकारों का हनन होने के कारण पत्थरगड़ी जैसी चिंतनीय गतिविधियां शुरू हो गयी। विकास की चिड़िया प्रशासनिक अराजकता और भ्रष्टाचार के धुंध में गायब हो गयी। सरकारी धन पर विकास की झूठी तस्वीर दिखाने निकली भाजपा और उसकी सरकार की हकीकत जनता बखूबी जान चुकी है। कोई भी संकल्प ले ले विकास की बनावटी कैसी भी तस्वीर बना ले जनता ने परिवर्तन का संकल्प ले लिया है 2018 के विधानसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ में परिवर्तन होना तय है।

 

error: Content is protected !!