प्लेसमेंट एजेंसी को फायदा पहुंचाने सरकार ने लगाई सीधी भर्ती पर रोक : धनंजय सिंह ठाकुर

रायपुर। राज्य में सरकारी नौकरियों पर 1 साल तक पाबंदी लगाए जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने इसे राज्य के पढ़े-लिखे होनहार युवाओं के रोजगार पर कुठाराघात करार दिया। उन्होंने सरकारी नौकरी पर पाबंदी पर तंज कसते हुए राज्य सरकार से पूछा क्या योग्य और नौकरी की आस में बैठे युवा पकौड़े बेचे या पान की दुकान खोलें या भीख मांगे, क्योंकि आपके राष्ट्रीय नेतृत्व एवं पार्टी के पितृ संगठन इसे भी रोजगार मानते हैं।

उन्होंने कहा कि 2014 के चुनाव में मोदी ने 2 करोड़ युवाओं को प्रतिवर्ष रोजगार मुहैया कराने का वादा किया था। राज्य सरकार ने मोदी के वादों को दरकिनार दरकिनार कर राज्य में 1 लाख से भी अधिक रिक्त पदों में भर्ती करने के बजाए 1 साल के लिये सरकारी नौकरी पर पाबंदी लगा कर राज्य में संचालित प्लेसमेंट एजेंसियों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है। राज्य में संचालित अधिकतर प्लेसमेंट एजेंसियां भाजपा के कद्दावर नेताओं एवं मंत्रियों के रिश्तेदारों की है। सरकार की मानसिकता सीधा-सीधा उनको फायदा पहुंचाने का दिखता है। प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से सरकारी दफ्तरों में काम काज चल रहा है लेकिन राज्य के 25 लाख पंजीकृत बेरोजगार जो सरकारी नौकरी की बांट जोहे आस लगाए बैठे हैं। राज्य सरकार उनके साथ धोखा, छल कर रही है। राज्य की व्यवसायिक परीक्षा मंडल एवं लोकसेवा आयोग की सुस्ती पूरे देश में चर्चित है। उन्होंने राज्य सरकार से पूछा कि आखिर केंद्रीय योजनाओं के स्वीकृत पदों पर भर्ती क्यो नही किया गया? राज्य में खाली 54 हजार शिक्षिको के पद पर भर्ती क्यो नही कर रहे है? भर्ती पर एक साल पाबन्दी के कारण सरकारी नौकरी की तय उम्र सीमा पार करने वालो के लिये क्या योजना है? क्या उनको आने वाले समय मे भर्ती प्रक्रिया के दौरान आयु सीमा में छूट दी जाएगी?

error: Content is protected !!