खनिज माफिया के गुर्गो ने किया पत्रकार के घर आधी रात हमला, वाहन में लगायी आग

०० पत्रकार से बीते दिन खनिज माफिया के गुर्गो ने पुलिस व खनिज अधिकारियो के सामने किया था जानलेवा हमला

०० जानलेवा हमले की शिकायत करने पर पत्रकार के घर पर पुनः किया गया हमला

००  पत्रकार को परिवार सहित जलाकर मारने की दी धमकियां व वाहन में लगायी आग  

रायपुर| राजधानी में खनिज माफिया की रौबदारी और गुण्डागर्दी इस हद तक बढ़ गई है कि शिकायत करने वाले पत्रकार ब्यास मुनि द्विवेदी को पुलिस और खनिज विभाग के अधिकारियों के सामने पीटने के बाद रात को 3 बजे पत्रकार ब्यास मुनि द्विवेदी के घर 10-12 लोग पुनः पहुच गये व जान से मारने की धमकी देते हुए पुरे परिवार को जला देने की बेबाक धमकी दी।

पत्रकार ब्यास मुनि द्विवेदी के अनुसार रात को 3 बजे खनिज माफिया के गुर्गे जिनकी संख्या 10-12 थी घर पहुच गये व् धमकी देने लगे, घर के अंदर शिकायतकर्ता पत्रकार सहित दो लोग थे जो अचानक हुए हमले से डरकर घर का दरवाजा नहीं खोले। रात को पहुंचे 10-12 लोग अश्लील गाली-गलौच करते हुए परिवार सहित घर जलाने की धमकी दे रहे थे तथा चिल्ला रहे थे “अफरोज भाई के खिलाफ शिकायत की है तो पूरे परिवार को जिंदा नहीं छोडेगें”। उसके बाद, घर के पास के घटना स्थल पर पड़ी शिकायतकर्ता की कार को आग लगा थी। 1 मई को शिकायतकत्र्ता ने पुलिस के सामने पिटाई करने वालों के विरूद्ध विधानसभा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई थी जिसमें पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा नहीं लगाई। पत्रकार ब्यास मुनि द्विवेदी पर हमला करने वाले खनिज माफिया की दहशत से खनिज विभाग व पुलिस भी भयभीत नज़र आ रही है, जबकि खनिज माफिया अफरोज के खिलाफ लिखित शिकायत किये जाने के बाद भी पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही नहीं किये जाने की वजह से आधी रात पुनः खनिज माफिया के गुर्गो ने पत्रकार के घर पर हमला कर उनकी वाहन में आग लगा दी | इस पुरे मामले में खनिज विभाग व पुलिस की भूमिका को लेकर भी संदेह उत्पन्न हो रहा है|

गौरतलब है कि 1 मई 2018 को दोपहर ब्यास मुनि द्विवेदी जो कि धनसुली हाउसिंग बोर्ड कालोनी में निवास करते है, नहर पर बनी सड़क से जा रहे थे कि नहर पर मुरम से भरी हाईवा से टकराकर उनकी गाड़ी पलट गई। किसी तरह गाड़ी का कांच तोडकर वे बाहर निकले तो उन्होनें हाईवा ड्राइवर को नहर पर गाड़ी चलाने पर आपत्ती दर्ज करवाई तथा गाड़ी को थाने ले जाने को कहा तब ड्रायवर ने अपने मालिक से बात करवाई तो मालिक ने कहा कि बता देना कि अफरोज की गाड़ी है। ब्यास मुनि द्विवेदी ने तत्काल ही सचिव खनिज, माईनिंग अधिकारियों तथा पुलिस को सूचना दी गई। तद्उपरांत पुलिस तथा माईनिंग के अधिकारी घटना स्थल पहुंचे इसी दौरान खनिज माफिया के 10 से 15 गुर्गो द्वारा  तलवार, लट्ठ के साथ पहुचकर पुलिस तथा माईनिंग अधिकारियों के सामने ब्यास मुनि द्विवेदी को जान से मारने का प्रयत्न किया गया पूरे शरीर में गंभीर चोटें पहुंचाई गई।

एक आंख से दिखना हुआ बंद :- ब्यास मुनि द्विवेदी को चोट लगने से दाई आंख से दिखना बंद हो गया है। डाक्टरी मुलाइजे में माथे पर सूजन, पीठ पर ऊपर और नीचे बड़ी चोटें, पैर की पिंडली में चोट, बाई तरफ छाती में चोट और दर्ज पाये गये। गंभीर चोटों के चलते उन्हें अस्थि रोग विशेषज्ञ, न्यूरो सर्जन, नेत्र रोग विशेषज्ञ, शल्य चिकित्सक से परामर्श करने हेतु कहा गया है।

पुलिस अधीक्षक और अतिरिक्त कलेक्टर (खनिज) से की शिकायत  :- ब्यास मुनि द्विवेदी ने आज अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर पुलिस अधीक्षक के नाम से ज्ञापन सौंपकर सुरक्षा की मांग की तथा अपराधियों पर हत्या का जुर्म दर्ज करने की मांग की।

कालोनीवासियों ने कहा सबका भला करते हैं ब्यास मुनि:- धनुसली कालोनी निवासी संजय शुक्ला, अखण्ड उपाध्याय, ए.के. झा, दीनानाथ मिश्रा, श्रीमती संजू मिश्रा ने बताया कि ब्यास मुनि द्विवेदी के प्रयत्नों के कारण ही गत वर्ष धनसुली में 1000 पौधों का वृक्षारोपण करते हैं तथा वृक्षारोपण पश्चात् स्वयं व्यवस्था कर पेड़ों को पानी पिला रहें है वे बिमारी इत्यादि में सभी का सहयोग करते है। 

 

error: Content is protected !!