छत पर बनाया स्वच्छता का शौचालय, हवा में गिर रहा गंदा पानी

०० जनपद पंचायत अध्यक्ष के निर्वाचित क्षेत्र के ग्राम जुनवानी में बनाया गया है अनोखा शौचालय

०० हितग्राही के मुताबिक घर में जगह नही है इसलिए छत पर बना दिया शौचालय

बिलासपुर। प्रधानमंत्री के हाथों सम्मान पाने की ईच्छा के कारण जनपद पंचायत मस्तुरी के अध्यक्ष ने अपनी पुरी गरिमा को ताक पर रख दिया है। मस्तुरी जनपद को स्वच्छ भारत मिशन के स्वच्छता अभियान में ईनाम पाने की इतनी ईच्छा रही की उन्होंने ओडीएफ होने के लिए ग्रामीणों के घर की छत पर भी शौचालय निर्माण करा दिया। पाठकों को एक बार में यह लग सकता है कि छत पर शौचालय में बुराई क्या है पर शौचालय की एक फोटो ही यह बता देती है कि पहले जो गंदगी एक परिवार के भीतर थी। अब वह पुरे गांव की छत पर बने शौचालय में पाईप को हवा में खुला छोड़ दिया गया है और शौचालय का गंदा पानी छत से सीधा जमीन पर 10 फिट नीचे गिरता है।

जिस महिला तितरी बाई के घर पर यह शौचालय बना है उस गावं का नाम जुनवानी है और यह गांव जनपद पंचायत अध्यक्ष का निर्वाचित क्षेत्र है। वर्ष 2017 में अध्यक्ष ने अपने हाथों से रायपुर में प्रधानमंत्री के हाथों पुरूस्कार लिया था। तब मस्तुरी में बहुत सारे सरपंच शौचालय निर्माण का भुगतान नही होने को लेकर परेशान थे। कुछ सरपंचों ने तो अपने घर के जेवर और बाईक भी गिरवी रखकर ठेकेदारों को भुगतान कर दिया था तब भी जनपद पंचायत मस्तुरी के अध्यक्ष की करस्तानियां प्रमुखता से छपी थी। इस बार तो हद ही हो गई, हितग्राही तितरी बाई का कहना है कि घर में जगह नही है इस लिए छत पर बना दिया। सवाल यह उठता है कि भुगतान के पूर्व कर्मचारियों को शौचालय की फोटो अपलोड कर भेजनी पड़ती है। अधिकारी कई बार इस बात का दावा करते है कि स्वच्छता अभियान का यह एप फोटो को अकक्षांस-देशांश के साथ सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय में दर्ज कराता है। यदि यह सत्य है तो अधिकारियों की इतनी हिम्मत कैसे हो गई की शौचालय का पाईप हवा में लटका है और गंदा पानी हवा में गिर रहा है। जिसे पुरूस्कार मिलना था उसे मिल चुका और जिनका स्वास्थ्य खराब होना है होगा। उत्तरदायी अधिकारी इस मामले से अनभिज्ञता जताते है और दूसरे ही वाक्य में जांच की बात करते है।

 जनपद अध्यक्ष चांदनी के चारो नंबर पर नही मिला जवाब :- जुनवानी गांव के निवासी तितरी बाई के घर की छत पर बने शौचालय पर जब जनपद पंचायत मस्तुरी की अध्यक्ष से उनका पक्ष जानने संपर्क किया गया तो उनके तीन मोबाईल नंबर पर पुरी रिंग गई किन्तु जवाब नही मिला। एक अन्य नंबर जिसपर उनका वाट्सअप चलता वह भी बंद मिला।

error: Content is protected !!