75 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के निलंबन वापसी हेतु कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने लिखा महापौर को पत्र

०० महापौर और उनकी महापौर परिषद हो आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की नियोक्ता

०० शासन द्वारा लिए हुए निर्णय को महापौर परिषद जनहित में ले सकते हैं वापस

रायपुर|छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग सदस्य एवं पूर्व प्रवक्ता विकास तिवारी ने आज पत्र लिखकर रायपुर नगर निगम के महापौर श्री प्रमोद दुबे को नगर निगम आयुक्त रजत बंसल द्वारा निलंबित किए गए 75 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के निलंबन वापसी हेतु अनुरोध किया गया है पत्र में विकास तिवारी ने कहा है कि रमन सरकार की दमनकारी नीतियों के कारण प्रदेश भर की 1 लाख 75 हजार से अधिक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आंदोलनरत है और रमन सरकार इनके आंदोलन को कुचलने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है इसी के परिपेक्ष में रायपुर में कार्यरत 75 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निगमायुक्त से निलंबित करवा दिया। 

विकास तिवारी ने पत्र में कहा है कि छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री भूपेश बघेल ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के धरना स्थल में जाकर उनको समर्थन दिया था और हर संभव मदद करने का वादा भी किया था बावजूद इसके रमन सरकार ने राजधानी रायपुर के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निलंबित करवा दिया विकास तिवारी  ने बताया कि नगर पालिका अधिनियम 1956 की धाराओं के तहत निगम के महापौर और उनकी महापौर परिषद आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की *नियोक्ता* होती है उन्हें यह अधिकार है कि शासन द्वारा लिए हुए निर्णय को वह जनहित में वापस ले सकते हैं इस हेतु कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के सदस्य एवं पूर्व प्रवक्ता विकास तिवारी ने पत्र लिखकर रायपुर नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे को निलंबित किए गए 75 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की तत्काल बहाली के लिए निवेदन किया गया है|

 

error: Content is protected !!