सड़क के खस्ता हालत से राहगीर व ग्रामीण परेसान

के नागे – सत्या देवांगन (बालोद) जिले में सड़को का हाल बेहाल है अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों में तो भगवान भरोसे चल रहा है ऎसा ही एक सड़क है बालोद जिला के अंतिम छोर में बसा ग्राम पंचायत आरकार जो कि दुर्ग जिला के सीमा क्षेत्र से लगा हुआ है जहाँ दिन भर में सैकड़ो की संख्या में चार पहिया वाहन गुजरती है पूरे सड़क मार्ग में जगह जगह पर गड्ढे होने के चलते मोटर साइकिल एवं साइकिल चालको को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है आये दिन छोटी बड़ी दुर्घटना होती रहती है ग्रामीणों ने बताया कि यह सड़क दुर्ग से धमतरी और कांकेर को जोड़ती है जिसके कारण से सड़क काफी व्यस्त रहता है सड़क बनाने के लिए कई बार मांग कर चुके है लेकिन शासन प्रशासन के उदासीन रवैया के चलते अभी तक कोई पहल नहीं किया गया है दिन में धूल के गुबार ऎसे रहते हैं जैसे कि कोई खदान में कार्य चल रहा हो धूल प्रदूषण से खांसी दमा जैसे बीमारी होने की संभावना बढ़ रही है ग्रामीण देव कुमार देवांगन, सत्यनारायण देवांगन, राजेंद्र सिन्हा, राजेश कुमार आदि लोगो ने बताया कि हर दो तीन महीने में पी डब्ल्यू डी के कर्मचारियों द्वारा सड़क पर मरम्मत कार्य कर अपना पल्ला झाड़ते हुए निकल जाते है वही उक्त मामले में अनुविभागीय अधिकारी पी डब्ल्यू डी गुणडीर्देही से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन मोबाइल नेटवर्क से बाहर होने के चलते बात नहीं हो पाया।

error: Content is protected !!