नाबालिग आदिवासी लड़की से थानेदार ने किया बलात्कार, शिकायत करने पर पिता को पीटा 

०० भाजपा नेता ने बयान बदलवाया, दोषियों की गिरफ्तारी की मांग : आम आदमी पार्टी

रायपुर| नक्सल प्रभावित बस्तर में सुरक्षा बलों द्वारा आदिवासी नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार का सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमे एक आदिवासी नाबालिग लड़की से थानेदार ने दुष्कर्म कर उनके पिता के साथ मारपीट भी की है साथ ही इस मामले को भाजपा नेता ने दबाने का प्रयास करते हुए उक्त दुष्कर्म पीडिता और पिता पर दबाव डालकर मूल बयान को बदल दिया गया व पीड़ित लड़की की थानेदार से अवैध संबंध की बात स्वीकार करवाई गई| 

आम आदमी पार्टी ने इस पूरे प्रकरण का खुलासा करते हुए बताया कि नक्सलियों के डर से घबराकर कांकेर जिले के ग्राम  पनीडोबीर से एक आदिवासी परिवार ने कोयलीबेड़ा में कुछ माह पूर्व शरण ली थी। जिस घर मे इस परिवार ने शरण ली थी उसी के निकट एक पूर्व आरक्षक रहता है। जिसके घर कोयलीबेड़ा के प्रभारी थानेदार का आना जाना लगा रहता है।  दो माह पूर्व इस थानेदार ने नाबालिग लडक़ी से बलात्कार किया और घर वालों को डरा धमकाकर लड़की से बलात्कार करता रहा, लगातार अपमानित होने के बाद लड़की के परिवार ने अंततः 9 अप्रैल को पुलिस थाना जाकर शिकायत करना चाहा लेकिन  थानेदार ने शिकायत दर्ज करने की बजाये लड़की के पिता से खूब मारपीट की और उसे जान से मारने की धमकी दी।  बलात्कार और पिटाई की घटना की खबर कोयलीबेड़ा में फैल गई। शाम को जिला पंचायत सदस्य, सरपंच, पँच की उपस्थिति में दर्जनों ग्रामीणों की बैठक हुई, जिसमे लड़की और पिता पर दबाव डालकर मूल बयान को बदल दिया गया। पीड़ित लड़की की थानेदार से अवैध संबंध की बात स्वीकार करवाई गई| नक्सलियों के डर से आदिवासी परिवार पनीडोबीर गांव छोड़कर कोयलीबेड़ा में रहने को मजबूर परिवार अब न्याय की बजाए अब पुलिस की दहशत में जीने विवश है, आम आदमी पार्टी इस पूरे प्रकरण में दोषी पुलिस अधिकारी के साथ साथ पीड़ित परिवार से बयान बदलवाने के अपराध में जिला पंचायत सदस्य, सरपंच आदि के गिरफ्तारी की मांग की है।डॉ संकेत ठाकुर,प्रदेश संयोजक, सोनी सोरी, प्रदेश अध्यक्ष, आदिवासी प्रकोष्ठ, व कोमल हुपेंडी,प्रदेश सह- संगठन मंत्री, बस्तर ज़ोन ने इस प्रकरण में लिप्त लोगों की तुरंत गिरफ्तारी की माँग की है।

 

error: Content is protected !!