भाजपा सरकार की धमकी और धौंस और प्रताड़ना से कांग्रेस नहीं डरती

रायपुर। तेंदूपत्ता आक्शन में सरकारी सफाई को खारिज करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि तेंदूपत्ता ठेकों में गड़बड़ी के सप्रमाण आरोप के बावजूद प्रक्रिया सही होने का हवाला देकर भाजपा सरकार दोषमुक्त नहीं हो सकती है। तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में पैसा जाने की बात कहकर चुनावी साल के बाद पत्ता तोड़ने वाले मजदूरों के हक के सैकड़ों करोड़ रूपयें की अफरा-तफरी को जायज नहीं ठहराया जा सकता है। कांग्रेस की पत्रकारवार्ताओं से सरकार की धमकी, धौंस या प्रताड़ना से कांग्रेस विचलित नहीं होने वाली है और भाजपा सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करना जारी रखेगी। 

गौरतलब है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने तेंदूपत्ता बिक्री में 300 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा था कि रमन सिंह सरकार के आंकड़ों और नए टेंडर से ही साबित हो गया है कि घोटाला हो रहा था। उन्होंने कहा कि तेंदूपत्ता का यह घोटाला पहली बार नहीं हो रहा है बल्कि यह तो हर चुनावी साल में भाजपा के लिए चुनावी चंदा जुटाने का साधन बना हुआ है. कांग्रेस ने इस धांधली की सीबीआई जांच करवाने और पहले दो चक्र के टेंडर को रद्द कर नए सिरे से टेंडर बुलाने की मांग की है। कांग्रेस भवन में पत्रवार्ता में उन्होंने कहा कि 15 मार्च को जब हमने तेंदूपत्ता की नीलामी में 300 करोड़ के घोटाले के आरोप रमन सिंह और उनकी भाजपा सरकार पर लगाए थे तो रमन सिंह ने दस्तावेज़ी सबूतों को भी मनगढ़ंत बताया था। लेकिन अब रमन सिंह सरकार ने ख़ुद स्वीकार कर लिया है कि दरअसल तेंदूपत्ता नीलामी में न केवल इस बार घोटाला हुआ है बल्कि यह हर चुनावी साल में होता रहा है।उन्होंने कहा कि पहला सबूत है सरकार की ओर से अदालत में दिए गए आंकड़े और दूसरा सबूत है तीसरे लॉट की नीलामी के लिए बुलाया गया टेंडर।

 

error: Content is protected !!