लोकसुराज अभियान पूरी तरह से विफल : भूपेश बघेल

०० स्वच्छता अभियान में किये जा रहे निर्माण कार्यो की गुणवत्ता को लेकर प्रदेश में मिली है व्यापक शिकायते
०० कमीशनखोरी जारी है, पूरे प्रदेश में नाराजगी का वातावरण 
०० बेरोजगारों को नौकरियां नहीं मिल पा रही है, निवास, जाति और आय प्रमाण पत्र बनवाने के लिये युवाओं को देना पड़ता है घूस
०० लोकसुराज के नाम पर केवल आवेदन लेने और उनको निराकृत दिखाने की निभाई गयी है औपचारिकता
रायपुर। लोकसुराज अभियान को पूरी तरह से विफल करार देते हुये प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने लोक सुराज अभियान को लेकर श्वेत पत्र जारी करने की मांग करते हुये कहा है कि उन्होंने पिछले वर्षो से हो रहे सुराज अभियान पर सवाल खड़े किये है। रमन सरकार के द्वारा पिछले कई वर्षो से लोक सुराज, ग्राम सुराज, नगर सुराज के नाम से जनता को छला जा रहा है। इस वर्ष लोक सुराज अभियान में 28 लाख 54 हजार 360 आवेदन नागरिकों ने समस्याओं के निराकरण की उम्मीद के साथ सौपे थे। वर्तमान में लोक सुराज अभियान के शिविर में मंदलोर में आवेदन देने आये ग्रामीणो ने शिविर समाप्त होने के बाद शिविर में दिये गये आवेदन की लावारिस हालात में पाया और जमीन में पड़े रजिस्टर को थाने में ले जाकर जमा कराये। जन आशीर्वाद पदयात्रा में निकले विधायको के सामने स्वच्छ छत्तीसगढ़ अभियान में झाडू लेकर फोटो खिचाकर सफाई अभियान चलाने वाले भाजपा के सांसद विधायको की पोल खुल गई है।

भूपेश बघेल ने कहा कि लोक सुराज अभियान सबसे ज्यादा आवेदन ग्रामीण क्षेत्रों से मिलना रमन सरकार के ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के प्रति उदासीनता को दर्शाता है। शहरी क्षेत्रों में सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिलना, राशन कार्ड, स्वच्छ पेयजल, वृद्धा पेंशन, सहित सरकारी विभाग की भ्रष्टाचार से पीड़ित जनता का आवेदन ज्यादा प्राप्त हुआ, जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र बनवाने तक में युवाओं की रिश्वत देना पड़ रहा है। 2005 से सूपेबेड़ा में दूषित पानी के कारण लोग बीमार पड़ रहे है। 2005 में सुराज अभियान के दौरान सूपेबेड़ा की समस्याओं को निराकरण के लिये आये आवेदन पर आज तक कोई कार्यवाही नही हुयी। 2018 लोक सुराज अभियान तक सुपेबेड़ा के लोग वही दूषित पानी पीने मजबूर है। बीमारी से बदस्तूर लोगो की मौत हो रही है। 2012 के लोक सुराज अभियान के दौरान गरियाबंद इलाके में नहर लाइनिंग की शिकायत किया गया था, जिसका निराकरण 2017 तक सरकार नहीं कर पायी। 2015 में लोक सुराज अभियान के तहत लगभग 30 लाख से अधिक आवेदन आये थे। मुख्यमंत्री ने पिछले साल लोक सुराज अभियान के दौरान 187 घोषणायें एवं 243 निर्देश जारी किया गया था, जो धरातल पर कहीं दिखते नहीं है। 2018 में फिर मुख्यमंत्री रमन सिंह ने फिर से वही घोषणा एवं वही निर्देश जारी किया है जो जनता की आंखों में धूल झोकने का काम है। मुख्यमंत्री रमन सिंह के निर्देश पर भाजपा कार्यालय से सांसदो और विधायको की पदयात्रा कार्यक्रम किया गया, जिसका पूरे प्रदेश में व्यापक विरोध हुआ है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने पूछा है कि भाजपा के जनप्रतिनिधि इसके पहले 5 साल में कब जनता के बीच गये थे? आज तक इनको जनता की याद नहीं आयी और आज चुनाव सामने देखकर भाजपा सांसदों और विधायकों की जनता और पदयात्रा की याद आ गयी। भाजपा नेतृत्व के पसीने छूटने लगे, तब जनप्रतिनिधियों को पदयात्राओं की सलाह दी गयी। कांग्रेस ने आंदोलनों और पदयात्राओं के माध्यम से जनता से 5 साल सतत् जीवंत संपर्क रखा है जबकि भाजपा पूरी तरह से सत्ता के मद में मस्त रहीं है। अब चुनाव सामने देख कर भाजपा सांसदों, विधायकों को जनता की याद आई। राज्य में कांग्रेस के पक्ष में जबर्दस्त माहौल से भाजपा का शीर्ष नेतृत्व घबरा गया है। आनन-फानन में बजट सत्र के अंतिम दिन भाजपा सांसदों-विधायकों की बैठक बुलाकर पदयात्राओं का कार्यक्रम कांग्रेस की नकल करते हुये जारी करना पड़ा। भाजपा बतायें कि उसके जनप्रतिनिधी सांसद और विधायक इसके पहले जनता के बीच कब गये थे? चुनाव सामने देखकर भाजपा को जनता की, गरीबों की, मजदूर किसानों की याद आई है अभी तक तो कमीशनखोरी, दलाली और तबादलों की कमाई से ही फुरसत ही नहीं थी।

लोक सुराज और जनसंपर्क यात्रा को लेकर प्रकाशित समाचारों की कुछ सुर्खियां

शिविर में लावारिस पड़े आवेदनों और रजिस्टर को थाना लेकर पहुंचे ग्रामीण
विधायक देवती कर्मा ने सरकार और अफसरों को जमकर सुनाई खरी खोटी, कहा पहले राशन कार्ड छीनती है सरकार, फिर शिविर लगाकर बाटती है। विधायक व जिला पंचायत अध्यक्ष के बीच हुई तीखी नोंकझोंक
लोकसुराज में लीपापोती का खेल
प्रदेश में भाजपा विधायको की पदयात्रा में खुल रही स्वच्छ छत्तीसगढ़ की पोल
लोक सुराज शिविर का जनता ने किया विरोध
लोक सुराज महज दिखावा, सिर्फ छोटी समस्याओं का ही किया जाता है निराकरण, बड़ी समस्या जस की तस
उज्जवला योजना में गड़बड़ी को लेकर कलेक्टोरेट घेराव
उज्जवला योजना में धांधली के विरोध में जन आक्रोश रैली
भाजपा विधायक ने नहीं लिया ज्ञापन, कांग्रेसियों ने की नारेबाजी
लोक सुराज अभियानः गोइंदा में 15 मिनट पहले बंद कर दिया शिविर, भटकते रहे ग्रामीण, ग्रामीणों का आरोप – मुनादी कर सुबह 10 से शाम 5 बजे समय बताया
लोक समाधान शिविर में राशन कार्ड, नल कनेक्शन, खाद्य, श्रम विभाग, सदर काउंटर तत्काल दुरूस्त करने के निर्देश
लोक सुराज में मंत्री रमशीला साहू का घेराव, पुलिस से झूमाझटकी, कांग्रसी और भाजपाइयों में हाथापाई
जनसंपर्क यात्रा में भाजपाई-कांग्रेसी भिड़े जमकर विवाद, पर्चे भी उछाले, जन शिकायतो पर भिड़े कांग्रेस-भाजपा कार्यकर्ता, वार्डवासियों ने मांगा पानी प्रर्दशन
शराब दुकानो का अनोखा विरोध : मार्गो के नामकरण की तख्ती लगाते कांग्रेसियों की पुलिस से झूमा-झटकी, शहर भर में प्रदर्शन, मंत्री और भाजपा नेता के नाम पर शराब दुकान मार्ग का नाम, 
स्वंय का स्वागत स्वंय के संसाधनो से कराने का प्रपंच है लोक सुराज के मंत्री समय स्थान व तिथि निर्धारित कर अभियान में जाने का साहस दिखाये
समाधान शिविर में पेयजल की समस्या को ले लोगो का आक्रोश फूटा कहा-पाइप लाइन बिछी पर पानी नहीं आ रहा 
सरपंचो ने निकाली जमकर भड़ास, समाधान शिविर में अफसरों को सरपंचो ने सुनाई खरी खोटी, जिला पंचायतो अध्यक्षो ने ली क्लास आधा घंटा खड़े रहे अधिकारी
लोक सुराज दल का घेराव
भारतीय जनात पार्टी के जनप्रतिनिधी व ग्रामीणों के बीच हुई गाली गलौज के साथ झूमाझटकी, बासीन में जनसंपर्क पदया़त्रा का ग्रामीणों ने किया बहिष्कार, ग्रामवासियों ने आवास योजना का मुद्दा उठाया
समाधान शिविर में कांग्रेस व भाजपा पार्षदों के बीच कहासुनी, समाधान शिविर जनता को केवल गुमराह करने का हथकंडा
लोक सुराज दल का घेराव 
बिल्हा के ग्राम किरना में लोक सुराज शिविर के मंच पर विकास कार्यो को लेकर घमासान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और विधायक एक दूसरे से बोले- तुम्हें देख लूंगा
सुराज के मंच पर भिड़े विधायक व पूर्व विधायक 
समाधान शिविर में भिड़े नेता 
नाराज ग्रामीण बोले – नहीं मिल रहा हमें मीठा पानी, समाधान शिविर में पीएचई विभाग की खुली पोल
सीएम-मंत्रियों के नाम पर शराब दुकान के मार्ग का नामकरण
कांग्रेस ने शराब दुकानों का अनोखा तरीके से किया विरोध, मंत्री-विधायकों के नाम कर दी शहर की शराब दुकानें 
सुराज अभियान के बाद होगा कलेक्टरों का तबादला, आधा दर्जन से अधिक जिलों के कलेक्टर होगे प्रभावित
बासीन में जनसंपर्क पदयात्रा को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश 
भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा को बताया ढकोसला
कांग्रेस की आपत्ति राजभवन में जाम, भारत निर्वाचन आयोग को नहीं भेंजी गई, भाजपा प्रत्याशी नामांकन रद करने के लिये दिया था आवेदन
समाधान शिविर में शामिल होने जा रहे ऑफिसर ने लिपिक की बचाई जान 
लोक सुराज में बड़ी कार्रवाई, यूपी जाने के इंतजार में बैठी गरियाबंद कलेक्टर हटाई गई, शिकायत के बाद वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी भी निलंबित , बीज वितरण में लापरवाही , कृषि अधिकारी पर कार्रवाई, गरियाबंद कलेक्टर श्रुति सिंह हटाई गई, लोक सुराज के दौरान कमजोर पदर्शन के चलते अधिकारियों पर हो रही है कार्यवाही। 
कवर्धा के डीएफओ को भी हटाया 
समस्याओं के निराकरण के बजाय आवेदको को दे रहे गलत जानकारी, शिकायत लेने के बाद कहा जा रहा है यह उनके विभाग का नहीं 
वेबसाइट पर सड़क निर्माण का प्रस्ताव तैयार बताया जा रहा है जबकि हकीकत में नहीं
समाधान शिविर में हाथ में आवेदन लिये जवाब के लिये भटकते रहे पार्षद
क्या लोक सुराज में सुनी जायेगी शिक्षाकर्मियों की फरियाद संविलियन के मांग को लेकर दिये है लाखों आवेदन  समाधान शिविर में विधवा पेंशन के लिये भटकती रहीं 
विधायक अरूण वोरा पहले ही दिन पहुंचे शिविर : मांगा समाधान 
गन्ने की लंबित भुगतान ओर शौचालय निर्माण की राशि में देरी से ग्रामीण नाराज, सोढ़ा में ग्राम सुराज अभियान में ग्रामीणों का हंगामा शिकायत 
बिरगांव में 21 को लोक सुराज दल का घेराव : वार्ड क्रमांक 28 में गौरव पथ का निर्माण किया गया लेकिन कुछ ही दिनों में सड़क जर्जर हो गई। नाली का गंदा पानी सड़क में भरा रहता है सड़क के दोनों किनारे धूल जम चूकी है। सड़क बत्ती जल नहीं रही है, शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। गरीबी रेखा कार्ड, तालाब सौंदर्यीकरण, सुलभ शौचालय का निर्माण आंगनबाड़ी भवन, सफाइ़र् व्यवस्था, गरीबो के लिये पटटी की मांग लोक सुराज शिविर 2017-18 में की गई थी लेकिन अब तक ध्यान नहीं दिया गया। 

 

error: Content is protected !!