लक्ष्मण झूला का निर्माण अंतिम चरण में, रात में दिखता है महादेव घाट का खूबसूरत नजारा

०० महादेवघाट का सौंदर्यीकरण लगभग 900 मीटर में किया गया खूबसूरत उद्यान विकसित

रायपुर| राजधानी रायपुर के नजदीक महादेवघाट की खूबसूरती में चार चांद लग गए हैं। महादेवघाट पर दुर्ग जिले के छोर में रिवर फ्रन्ट पर करीब 900 मीटर लंबा उद्यान विकसित कर लिया गया है। घाट पर लक्ष्मण झूला का निर्माण भी अंतिम चरण में है। रात में जब पूरे उद्यान और लक्ष्मण झूला में बिजली की रंग-बिरंगी रोशनी रहती है, तब महादेवघाट की खूबसूरती देखते ही बनती है।
जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज यहां बताया कि महादेवघाट के सौंदर्यीकरण और लक्ष्मण झूला बनाने का काम जल संसाधन विभाग द्वारा किया जा रहा है। लगभग छह करोड़ 10 लाख रूपए की लागत से 150 मीटर लक्ष्मण झूला बनाया गया है। इसमें से 90 मीटर का हिस्सा सस्पेंशन होगा। बारिश में लक्ष्मण झूला का अलग ही आनंद रहेगा। उन्होंने बताया कि लक्ष्मण झूला का काम आगामी 10 दिन में पूरा कर लिया जाएगा। अग्रवाल ने बताया कि दुर्ग जिले के हिस्से में रिवर फ्रंट पर 900 मीटर में उद्यान बनकर तैयार  है। उद्यान में पेडस्टेन ट्रेक, एक्वाप्रेशर ट्रेक और गोल्फकार्ट ट्रेक बनाए गए हैं। उद्यान में बच्चों के मनोरंजन के लिए कई प्रकार के झूले लगाए गए हैं। एक कैफेटेरिया का निर्माण भी यहां पर्यटकों की सुविधा के लिए किया गया है। एक्सरसाइज और योगाभ्यास के लिए अलग-अलग ट्रेक बने हुए हैं। उद्यान का प्रवेश द्वार कैलाश गुफा की प्रतिकृति है। पर्यटक कैलाश गुफा से होकर उद्यान में पहुंचेंगे।  

 

 

error: Content is protected !!