अंधविश्वास के चलते अमित शाह ने कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में नहीं किया बैठक : विकास उपाध्याय

०० कांग्रेसियों ने एयरपोर्ट में हो रही अमित शाह की बैठक का किया विरोध

०० कांग्रेस भवन की चाबी पीला चावल लेकर अमित शाह को बुलावा देने जा रहे विकास उपाध्याय को पुलिस ने किया गिरफ्तार

रायपुर| माना विमानतल पर बैठक कर रहे अमित शाह भाजपा को कांग्रेस का विरोध का सामना करना पड़ा। कांग्रेस ने भाजपा पर केंद्र एवं राज्य की सत्ता का दुरुपयोग कर विमानतल की सुरक्षा एवं नागरिकों की सुविधा को नजरअंदाज कर मनमानी करके एयरपोर्ट पर बैठक करने का आरोप लगाया।इस दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने ट्वीट कर अमित शाह को कांग्रेस भवन के सभागार में बैठक करने आमंत्रित किया गया। जिसके बाद शहर कांग्रेस अध्यक्ष विकास उपाध्याय कार्यकर्ताओं के साथ पीला चावल नाश्ता का पैकेट एवं कांग्रेस भवन की सभागार की चाबी लेकर अमित शाह को बुलावा देने एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए लेकिन राज्य सरकार की पुलिस उन्हें एयरपोर्ट जाने से पहले ही फुढ़हर के पास उनकी कार को रोककर जबरदस्ती उन्हें कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ्तार किया एवं उन्हें सेंट्रल जेल ले गये तथा कुछ कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर शहर के बाहर के थानों  ले गये। इस दौरान  कार्यकर्ताओं पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई।

एयरपोर्ट जाने के लिए  गाड़ी से उतर कर भाग रहे कार्यकर्ताओं को पकड़ने में पुलिस  का पसीना निकल गया, पुलिस को चकमा देकर  कई रास्तों से पहुंच रहे कार्यकर्ताओं को रोकने  पुलिस को खासी मेहनत करनी पड़ी  जिस जगह पर जहां कार्यकर्ता दिखा वहीं से उनको गिरफ्तार कर सीधा शहर के बाहर आउटर के थानों में ले जाया गया। पुलिस की कार्यवाही का विरोध करते हुए शहर कांग्रेस अध्यक्ष विकास उपाध्याय ने कहा कि हम तो माना एयरपोर्ट की सुरक्षा एवं यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखकर वहां पर बैठक कर रहे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को कांग्रेस भवन के सभागार में बैठक करने बुलाने जा रहे हैं लेकिन राज्य सरकार की पुलिस हमें बर्बरतापूर्वक जोर जबरदस्ती गिरफ्तार कर रही है उन्होंने कहा कि अमित शाह अंधविश्वास के माया जाल में फंस चुके हैं उन्हें कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में वास्तुदोष नजर आ रहा है उन्हें लगता है कि इस वास्तु दोष के कारण ही राज्य की रमन सरकार ठीक से काम कर नहीं पा रही है जिसका नतीजा उनको आने वाले चुनाव में हार का सामना करना पड़ेगा लेकिन हकीकत यह है कि राज्य में भाजपा की सरकार को 15 साल होने जा रहा है और इन 15 सालों में किसानों को नौजवानों को गृहणियों को व्यापारियों को छात्रों को किसी भी प्रकार का लाभ नहीं मिल पाया है बल्कि उल्टा इस सरकार के जनविरोधी नीतियों के कारण सभी वर्ग परेशान हैं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से लेकर शिक्षाकर्मी शासकीय कर्मचारी भी सरकार के गफलत बाजी के शिकार हैं उन्होंने कहा कि अमित शाह को राज्य सरकार की खामियों के बारे में जानकारी हो चुका है और शहर के भीतर आने से भयभीत अमित शाह माना विमानतल पर ही कमीशनखोर मंत्रियों से अपना हिस्सा लेकर वहां से रवाना हो गए उन्हें भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं से मिलने का ही फुर्सत नहीं है अगर वह कार्यकर्ताओं से मिलते तो उन्हें उनकी पीड़ा समझ में आती लेकिन चाटुकारों कमीशन खोरो और भ्रष्ट सरकार से मिलने वाले हिस्से से मतलब रखने वाले अमित शाह को भाजपा के कार्यकर्ता अब जवाब देंगे जनता तो जवाब देने बस तारीख का इंतजार कर रही है बहुत जल्द ही अमित शाह को छत्तीसगढ़ के दौरे से मुक्ति मिलेगा और राज्य को रमन सरकार से मुक्ति मिलेगी।अमित शाह को बुलावा देने अजीत मिश्रा धनंजय सिंह ठाकुर रोशन श्रीवास तारू मिश्रा पंकज मिरी बाबूलाल साहू मनोहर देवांगन हेमलता साहू दीपक साहू विक्की बंसोर बलराम वर्मा रामप्यारी पटेल लक्ष्मी यादव सुमन तिवारी गोविंद ध्रुव बसंत यादव हितेश गायकवाड सरजू नगर मनोज साहू एवं कांग्रेस जन पहुंचे थे।

 

error: Content is protected !!