रायपुर विमानतल पर बैठक कर भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सत्ता का दुरूपयोग कर रहे है : कांग्रेस

रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह छत्तीसगढ़ में भाजपा का खिसकता जनाधार देख विचलित है। रमन सरकार को लगभग 15 वर्ष होने को है, किसानों को 300 रू. प्रतिक्विंटल बोनस, 2100 रू. प्रतिक्विंटल धान का समर्थन मूल्य, युवाओं को रोजगार, महिलाओं को सम्मान देने अपने घोषणा पत्र जिन्हें संकल्प पत्र कहा गया उसे भी इस सरकार ने पूरा नहीं किया है। अमित शाह अपनी उड़ीसा यात्रा के दौरान दो घंटे रायपुर स्वामी विवेकानंद विमानतल पर अपनी पार्टी के प्रदेश स्तरीय नेताओं की बैठक ले रहे है।

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने कहा कि विमानतल पब्लिक प्रापर्टी है जहां आगमन-निगमन के अलावा किसी प्रकार की बैठक या निजी कार्यो के उपयोग की अनुमति नहीं दी जाती, बावजूद इसके नियमों को ताक पर रखकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सत्ता का दुरूपयोग कर घण्टों बैठक करने वाले है जो कि जनता के अधिकारों का हनन है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को छत्तीसगढ़ के किसान, मजदूर, शिक्षित बेरोजगार, आम जनमानस की पीड़ा से कोई सरोकार नहीं है, उन्हें चिंता है तो सिर्फ प्रदेश में भाजपा की चौथी बार सरकार कैसे बने? प्रदेश में किसानों की बढ़ती आत्महत्यायें, नक्सलियों का आतंक, बेरोजगारी से पलायन, महिला उत्पीड़न, भ्रष्टाचार, अफसरशाही, कमीशन खोरी से प्रदेश जुझ रहा है, परंतु रमन सरकार मुखदर्शक बनी हुयी है। जनता की विकराल समस्या का निराकरण इस सरकार की प्राथमिकता में नहीं है। प्रदेश की परेशान जनता भारतीय जनता पार्टी और अफसरशाही के आतंक का अंत वर्ष 2018 में अपने मतो से अवश्य करेगी। 

error: Content is protected !!