गर्भवती महिला ऑटो में बच्चे को जन्म देने को मजबूर : विकास तिवारी

०० महतारी एक्सप्रेस जैसी योजनाओं के फर्जीवाड़ा की खुली पोल

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि रमन सरकार में गर्भवती माताएं ऑटो में बच्चे को जन्म दे रही है। रमन सरकार के स्वास्थ्य व्यवस्था की लचरता की पराकाष्ठा हो चुकी है। इस घटना से महतारी एक्सप्रेस जैसी योजनाओं के फर्जीवाड़ा की पोल खुल गयी है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने स्वास्थ्य विभाग के कामों का ढिंढोरा पीटते हैं वहीं कोरिया जिले के सरकारी अस्पताल में डॉक्टर का इंतजार करते हुये एक गर्भवती महिला ने ऑटो में ही अपने बच्चे को जन्म देना पड़ा। रमन राज में स्वास्थ्य व्यवस्थायें पूरी तरह से भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है।

कुछ दिनों पूर्व में अखिल भारतीय आयुर्वेदिक संस्थान एम्स टाटीबंध रायपुर में में एक महिला को अपने मृत पति का पार्थिव शरीर एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण ठेले में ले जाना पड़ा जिससे पूरा प्रदेश शर्मसार हुआ। अस्पताल प्रबंधन ने उस महिला को अपमानित करते हुए क्या कह दिया कि एंबुलेंस जैसे गरीब के लिए नहीं है तो मजबूरन वह महिला ने अपने पति के मृतदेह को ठेले में लेकर जाना पड़ा। आज फिर रमन सरकार की महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता की पोलपट्टी तब खुली जब कोरिया जिले के सरकारी अस्पताल में चिकित्सक के अनुपस्थिति में काफी देर से इंतजार करती हुई गर्भवती महिला को मजबूरन अपने बच्चे को ऑटो में खुले आसमान में जन्म देने को मजबूर होना पड़ा। प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि रमन सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था का इतना बुरा हाल है, की सरकारी डॉक्टर सरकार से मोटा वेतन लेने के बावजूद अस्पतालों से गायब रहते है, और अपना खुद का क्लिनिक, अस्पताल खोलकर मरीजो को वही बुलाकर मोटी फीस लेकर ईलाज करते है जो कि नियम विरुद्ध है, चिकित्सको को सरकार को शपथ पत्र देना होता है कि वो निजी प्रेक्टिस नही करेंगे। बावजूद कोरिया जिले की इस घटना ने पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल दी है, सरकारी डॉक्टरों की बेलगामी का हाल सुदूर बस्तर, सरगुजा, कोरिया इन जिलों में सहसा अंदाजा लगाया जा सकता है। रमन सरकार में स्वास्थ्य विभाग में  मंत्री से लेकर पूरा अमला केवल और केवल मोटे कमीशनखोरी में लगे हुए हैं। उन्हें जरूरतमंद गरीब मरीजों से किसी भी प्रकार का ना तो वह है ना उनके प्रति कोई संवेदना है चिकित्सक की अनुपस्थिति  में और समय में उचित ईलाज सुविधा नहीं मिलने के कारण एक गर्भवती माता को मजबूरन अपने बच्चे का जन्म ऑटो में ही करवाना पड़ा। यह बहुत दुखद और संवेदनशील मामला है इस घटना से रमन सरकार ने पूरे प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर में शर्मसार किया है।

 

error: Content is protected !!