किसानों को ब्याज सहित बीमा राशि देने की मांग को लेकर जनता कांग्रेस ने किया जिला कृषि अधिकारी का घेराव

०० किसानों को ब्याज सहित बीमे की राशि नहीं देने पर होगा उग्र आंदोलन : जनता कांग्रेस

०० प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के साथ धोखा, 300 करोड़ का गबन कर भूले अधिकारी

०० फर्जी आंकड़ो के दम पर करोड़ो का घोटाला,भोलेभाले किसानों को लूटने अनवरी रिपोर्ट को बनाया जा रहा सहारा

बिलासपुर| धान का कटोरा कहलाने वाले प्रदेश में किसान कटोरा लेकर भीख मांगने की स्थिति में आ गए है। छत्तीसगढ़ के 12,94,989 किसानों से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 2% बीमा प्रीमियम जो कि लगभग 300 करोड़ रुपए है किसानों से वसूला गया किन्तु बिलासपुर सहित 17 जिले सूखाग्रस्त घोषित होने के पश्चात भी आज तक किसानों को उनकी फसल का बीमा भुगतान नहीं किया गया जो कि लगभग 6000 करोड़ रुपए है।उक्त घोटाले के सामने आते ही जनता कांग्रेस ने बिलासपुर जिले के कृषि अधिकारी का घेराव किया ।

विक्रान्त तिवारी ने बताया कि बिलासपुर जिले में बिल्हा, तखतपुर, मस्तूरी का कुछ भाग, बेलतरा, कोटा, मरवाही के किसानों द्वारा प्रधानमंत्री ग्राम फसल बीमा योजना के अंतर्गत ऋणी नियमित किसान एवं अऋणी नियमित किसानों द्वारा केंद्र की बीमा योजना में प्रीमियम के रूप में करोड़ो रुपए जमा किया गया था, सुख ग्रस्त होने के पाश्चत भी जिले के किसानों को उनकी फसलों के बीमे की।राशि का भुगतान नही किया गया । पूर्व में राज्य सरकार द्वारा कई जिलों को सूखाग्रस्त घोषित कर केंद्र से राशि ली गई थी जिसमे बिलासपुर जिला भी शामिल था, किंतु भुगतान पूर्व जिले में 36% फसलों की पैदावार बता कर किसानों को बीमे से वंचित करने षड्यंत्र रचा गया। इससे साफ है की राज्य सरकार द्वारा जारी की गई अनवरी रिपोर्ट ही गलत है या पूर्व में सूखाग्रस्त घोषित करने के पूर्व की गई जांच मैं भ्रष्टाचार हुआ है।  केंद्र और राज्य द्वारा अलग-अलग मानक होने के कारण किसानों को उनकी बीमा की राशि से वंचित होना पड़ रहा है । अतः जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ यह मांग करती है की किसानों को उनकी फसल बीमा की राशि के अनुरूप बीमा भुगतान तत्काल किया जाए और अनावारी रिपोर्ट जमा करने में हो रहे भ्रष्टाचार की तत्काल जांच कर संबंधित अधिकारियों पर उचित कार्यवाही की जाए। किसानों के 6000 करोड़ रुपये जो कि लगभग 1 साल से सरकारी मापदंडों के कारण सरकारी खजाने में है उनपर करोड़ो रूपये के ब्याज का भी सरकार द्वारा बंदरबांट होने की आशंका है। अतः हमारी मांग है कि प्रभावित किसानों को उनके बीमे की राशि ब्याज सहित दी जाए। उक्त मांगों के लिए पूर्व में भी जनता कांग्रेस छ्त्तीसगढ़ द्वारा ज्ञापन जिला प्रशासन को दिया गया था किन्तु भुगतान करने में सरकार द्वारा लगातार उदासीनता दिखाना किसानों को मौत के लिए प्रेरित करने समान है। अतः आँगर उक्त मांगे 15 दिवस के अंदर नही पूरी की गई तो जनता कांग्रेस द्वारा जिले के हजारो किसानों के साथ जिला मुख्यालय में उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। जिसके पूरी जवाबदारी आपकी एवं प्रशासन की होगा। उक्त घेराव का नैतृत्व शहर अध्यक्ष विशम्भर गुलहरे एवं महिला प्रदेश अध्यक्ष सुश्री शहजादी क़ुरैशी ने किया जिसमें प्रमुख रूप से संतोष कौशिक टिकेश प्रताप सिंह, शाजी मैथयू, मणिशंकर पांडे, समीर एहमद, जीतू ठाकुर, गजेंद्र श्रीवास्तव, विक्रान्त तिवारी, मार्ग्रेट बेंजामिन, चित्रकान्त श्रीवास, प्रदीप कुर्रे, कमल कश्यप, विजय दुबे, मनीष जॉर्ज, सत्येंद्र गुलेरी, हितेश सिंह, संजीत बर्मन, गौरव अग्रवाल, हर्ष सिंह,आकाश दुबे, राज बंजारे, सुहंग दास, राज बहादुर, राहुल आदि बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!