कोटा थाने में महिला संवेदनाशील केंद्र का उद्घाटन करने पहुंचे पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख 

०० संवेदनशील केंद्र में पीड़िताओ को मेडिकल सुविधाएं सहित मिलेगी कुछ निजी वस्तुए

करगीरोड कोटा। कोटा थाना में पीड़ित महिलाओं के लिये  संवेदनाशील केंद्र बनाया गया जिसमें की पीड़िताओ को समय पर मेडिकल की सुविधाएं नही मिल पाती है। आम तौर पर बाहर से जो महिलाएं आती है उनके लिए हर सुविधा उपलब्ध करा दी जायेगी। कई बार महिलाएं अपने आप को असहाय मसहूस करती है और उनको कुछ नीजि वस्तु समय पर नही मिल पाती है उसी को ध्यान में रखते हुए संवेदनशील केंद्र खोला गया है। 
बिलासपुर एसपी आरिफ शेख ने कहा है कि महिलाओं के लिए खासतौर पर ये संवेदनाशील भवन बनाया गया है कि कई बार पीड़ित महिलाओ को मेडिकल की सुविधा उपलब्ध नही हो पाती है।चाहें लीगल अलीगल हो उसी को देखते हुए यहाँ केंद्र खोला गया है कई बार देखा जाता है कि महिला संबंदी अपराध होते है उस पीड़ित महिला को मेडिकल व अन्य प्रकार की सुविधाएं नही मिल पाती है व सुविधा उस केंद्र में मिलेगी। इसकी शुरुआत तोरवा थाना से की गई है जो आज कोटा थाने में भी संवेदनाशील केंद्र का स्थापना किया गया जिसमें महिलाओं संबंधित मेडिकल व अन्य सुविधा हमेशा ही उपलब्ध रहेगी। चाहें पीड़ित  महिला के लिए ही संवेदनाशील केंद्र का निर्माण किया गया है।  पीड़ित महिला सशक्तिकरण केन्द्र बिलासपुर जाना पड़ता था लेकिन अब उसको जाना नही पड़ेगा क्योंकि थाने में ही हर सुविधा कराई जाएगी जो पीड़िता होती हैं उसको एक ही स्थान पर मेडिकल जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। इस दौरान ग्रामीण एडिशनल एएसपी बिलासपुर अर्चना झा, अनुभागीय अधिकारी पुलिस कोटा एसडीओपी विश्वदीपक त्रिपाठी कोटा, थाना प्रभारी कृष्णकांत सिंह, बेलगहना चौकी प्रभारी पीएस गौतम, एसआई चौहान, हेमंत पाटले, अशोक शर्मा, राकेश बघेल, दीप केन्वर, दीपक किंडो, संदीप जांगड़े व कोटा नगर के महिला उपस्थित रहे।

 

error: Content is protected !!