पूनिया पहले अजित जोगी से सार्वजनिक माफी मांगे तब देंगे राज्यसभा उम्मीदवार को समर्थन

विधायक राय और सियाराम कौशिक का काँग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को खुला पत्र

०० जननेता,आदर्श छत्तीसगढ़िया और हमारे परम्आदर्णीय नेता का अपमान हम बर्दाश्त नही करेंगे :रॉय 

००  निरन्तर एक छत्तीसगढ़िया नेता के चरित्र हनन का प्रयास प्रदेश की ढाई करोड़ जनता का अपमान है

०० सार्वजनिक माफी मांगने पर ही कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन देने का निर्णय प्रदेश की जन भावनाओं से प्रेरित।

रायपुर| प्रदेश में जारी राज्यसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच आज कांग्रेस के दो वरिष्ठ विधायकों ने अपने पत्र से हलचल मचा दी। काँग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गाँधी को प्रेषित पत्र गुंडरदेही से कांग्रेस विद्यायक श्री आर. के. राय के लेटर पेड पर स्वयं उनके एवं बिल्हा विधायक श्री सियाराम कौशिक के हस्ताक्षर से भेजा गया। जिसमें काँग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार को समर्थन देने में रोड़ा बन रहे प्रदेश प्रभारी पी. एल. पुनिया के अमर्यादित बयान से आहत हुई जन भावनाओं से  राहुल गांधी को अवगत करवाया गया। साथ ही पुनिया द्वारा मा. अजित जोगी जी से सार्वजनिक माफी मांगने पर ही समर्थन दिए जाने को स्पष्ट रूप से दिल्ली को सूचित किया गया।

 छतीसगढ प्रदेश की राजनीति में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के लगातार बढ़ रहे जन समर्थन और दखल को देखते हुए दोनो ही राष्ट्रीय दलों ने जनता कांग्रेस पर ही अपना ध्यान केंद्रित कर लिया है। जिस कारणवश दोनो राष्ट्रीय दलों के नेता जोगी परिवार पर और मुख्यता प्रथम मुख्यमंत्री मा. अजित जोगी पर ही ब्यान बाजी कर प्रदेश की राजनीतिक मुख्यधारा में बने रहने प्रयास रत रहते है। इसी कड़ी में दिल्ली से भेजे गए काँग्रेस के प्रदेश प्रभारी उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले  नेता पी.एल.पुनिय भी शामिल हो गए है। पुनिय द्वारा प्रदेश में अपनी पहचान बनाने लगातार प्रदेश के लोकप्रिय नेता मा अजित जोगी पर टिप्पणी करना आम होगया है, स्तरहीन शब्दो का प्रयोग,अपशब्दों से परिपूर्ण भाषण और मा जोगी जी के चरित्र हनन की कोशिश कर पुनिय ने प्रदेश की आम जनता को आहत किया है। प्रदेश के ढाई करोड़ जनमानस की भावनाओ से अवगत कराते हुए कांग्रेस के दो विधायकों ने अंततः दिल्ली को खुला पत्र लिख अपने प्रतिनिधि पर लगाम लगाने आग्रह किया है। माननीय विधायकआर के राय ने साफ शब्दों में लिखा कि  हम राज्यसभा उम्मीदवार को निशर्त समर्थन देने की पूर्व में ही घोषणा कर चुके थे, किन्तु लगातर हमारे नेता और प्रदेश के लिए आदर्श छत्तीसगढ़िया माने जाने वाले लोकप्रिय नेता का अकारण अपमान बर्दाश्त योग्य नही है। इसी लिए अपनी अंतरात्मा की आवाज़ और छत्तीसगढ़ियो के सम्मान में हमने ये निर्णय लिया है, की पी एल पुनिय द्वारा मा. अजित जोगी जी से सार्वजनिक माफी मांगने पर ही हम दोनों विधायक कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार को अपना समर्थन देंगे।यह निर्णय प्रदेश की जन भावनाओं के प्रेरित छत्तीसगढ़ियो के सम्मान में लिया गया निर्णय है।

 

error: Content is protected !!