प्रेरक संघ ने अपनी जायज मांगो को लेकर निकाली रैली

 

भरत भारद्वाज (कोण्डागांव) छत्तीसगढ़ प्रेरक पंचायत कल्याण संघ के इकाई प्रेरक संघ कोंडागांव के बैनर तले बुधवार को जिले के समस्त प्रेरकों ने रैली निकालकर ज्ञापन सौपा। प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव के नाम सौपे गए ज्ञापन में प्रेरको ने मांगो को पूरा कराने के लिए आव्हान किया है ।

प्रेरकों की  है प्रमुख मांगे

सौपे गए ज्ञापन में  प्रेरकों ने नियमितीकरण के साथ वेतनमान, नियमितीकरण प्रक्रिया होने तक मानदेय 15 हजार रुपये दिया जाय, चुनावी घोषणा पत्र 2013 के अनुसार शिक्षाकर्मी में संविलियन किया जाय का लाभ दिया जाय। रुके हुए जिला के समस्त प्रेरकों की मानदेय जारी करने,टीए डीए की भुकतान किया जाए।

प्रेरक संघ के पदधिकारी जिला अध्यक्ष एवम प्रदेश सचिव लखन लाल देवांगन,उपाध्यक्ष रामसिंग मरकाम,सचिव बृजलाल यादव ने जानकारी देते हुए बताया, प्रदेश में साक्षर भारत कार्यक्रम के अंतर्गत23 जिलो में  16,802 हजार प्रेरक कार्यरत हैं। उनका चयन 2012 में मिनी पीएससी परीक्षा के माध्यम से किया गया। इसके तहत प्रत्येक पंचायत में एक महिला और एक पुरुष प्रेरक कार्यरत हैं। हर प्रेरक को प्रति 3 माह में 20 असाक्षरों को साक्षर करने का दायित्व दिया गया है।प्रेरक अपने कार्य को बखूबी से निभा रहे है। लेकिन प्रेरको को इसके एवज में 66 रुपये 66 पैसे प्रतिदिन के दर से 2 हजार रुपये प्रतिमाह दिया जा रहा है। ये अब इससे असन्तुष्ट हो चुके है।

ऊँट के मुँह में जीरा है प्रेरकों का मेहनताना

प्रेरकों ने आप बीती बताते हुए कहा कि आज के जमाने मे 66 रुपए से किसी का परिवार कैसे चल सकता है। शासन खुद विश्लेषण करके हमे बताये हम पूरी मेहनत से भारत सरकार और राज्य सरकार का कार्य कर रहे है और हमारा मानदेय चपरासी से भी कई गुना कम है।

कल दिनांक 22-03-2018 को नारायणपुर के नया बस स्टैंड में नारायणपुर और कोंडागांव जिला के प्रेरक एक दिवसीय हड़ताल धरना रैली निकालेंगे।

error: Content is protected !!