केवल दिखावा है लोक सुराज अभियान – मोहन मरकाम विधायक कोंडागांव

 

भरत भारद्वाज (कोंडागाँव) विधायक मोहन मरकाम ने कहा की लोक सूरज अभियान के तहत मुख्यमंत्री का माकड़ी ब्लॉक के पपुसापाल में हेलीकाफ्टर से उतारना अचानक ही नही वरन पूर्व प्रायोजित था क्योकि वहाँ पर पहले से ही भाजपा के कार्यकर्ता औऱ नान अध्यक्ष सुश्री लता उसेंडी और जिला प्रशासन का पूरा अमला उपस्थित था कोंडागाँव और पूरे प्रदेश में भाजपा धरातल में आ चुकी है जनता ने सत्ता परिवर्तन का मन बना लिया है इस से घबराकर मुख्यमंत्री गाँव गाँव घूम रहे है जो कि एक दिखावा है। आमजन का कहना है कि लोकसुराज एक जनता को दिग्भर्मित करने वाला अभियान है पहले भी लोकसुराज के दौरान मुख्यमंत्री का उड़नखटोला कोंडागाँव ब्लॉक के ग्राम पंचायत बड़े बेन्द्री और अन्य जगहों में उतरा था जहाँ खुद मुख्यमंत्री ने कई घोषणा की थी पर आज तक उन घोषणाओं पर अमल नही किया गया।
बस्तर संभाग में भाजपा की पतली हालत  देख कर भाजपा संगठन और मुख्यमंत्री के होश उड़ गए है इसलिए घोषणावीर मुख्यमंत्र दनादन सिर्फ घोषणा करते जा रहे है जबकि जमीनी हकीकत कुछ और है। विकास कार्य सिर्फ मीडिया बाज़ी और कागजी घोड़े की तरह है,
विधायक ने कहा की भू राजस्व संसोधन अधिनियम से आदिवासी सकते में है इसके अतिरिक्त आउट सोर्सिंग, मोदी जी के जनविरोधी फैसले,नोटबन्दी ,जी एस टी ,किसान विरोधी फैसले ,,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता,, शिक्षा कर्मी, रसोइया संघ ,  साफसफाई कर्मचारी, मितानिन , डाटा  ऑपरेटर, प्रेरक संघ, और अन्य संगठन के आंदोलन को दमन पूर्वक कुचलकर उनकी मांगों को न पूरी करने से सरकार बैकफुट पर आ गयी है। जनता इसका जवाब 2018 में भाजपा को सत्ता से बाहर करके देगी एक तरफ कोलाहल नियंत्रण अधिनियम लागू है वही दूसरी ओर भाजपा जनसम्पर्क अभियान के दौरान गाजे बाजे के साथ गांव गांव घूम रही है यहां तक पिछले दिनों जब सुकमा में नक्सली हमले में जब हमारे 9 जवान शहीद हो गए थे उस दिन भी ये बाजे गाजे और फटाके फोड़ते हुए घूमते फिर रहे थे जो ना केवल निंदनीय है अपितु शहीदों का अपमान भी है,एक ओर जिले में कोलाहल नियंत्रण अधिनियम लागू है और दूसरी ओर भाजपा डीजे गाड़ी लेकर गांव गांव घूम रहे है क्य्या प्रशासन ने उन्हें विशेष छूट प्रदान की हुई है वही जिला मुख्यालय में आंदोलनरत रसोइया संघ और आंगनबाड़ी संघ के माईक सिस्टम को जब्ती करने की कोशिश करती है विधायक ने कहा कि तत्कालीन यूपीए की सरकार ने नगरनार स्टील प्लांट को एन एम डी सी के नियंत्रण में रखा था जिसे नरेंद्र मोदी जी की सरकार सार्वजनिक उपक्रमो को बेचने का प्रयास कर रही है। जिस से स्थानिय बेरोजगारों को लाभ नही मिलेगा  कांग्रेस इस फैसले का पुरजोर विरोध करती है। आने वाले समय मे हम एक वृहत आंदोलन करने में भी पीछे नही हटेंगे अब छ ग की जनता इनके बहकावे में नही आएगी और 2018 में बस्तर संभाग की पूरी 12 सीट सहित कांग्रेस विजयी परचम लहरा कर छत्तीसगढ़ में सरकार बनाएगी ।

error: Content is protected !!