धमाका36.कॉम की खबर के बाद जागा जिला प्रशासन, अग्रहिज नागवंशी की शिकायत पर लिया संज्ञान

०० झूठे मुकदमे पर आदिवासी परिवार को फ़साने जाने को लेकर धमाका36.काम ने किया था प्रमुखता से समाचार का प्रकाशन

०० प्रार्थी अरमरीकला निवासी अग्रहिज नागवंशी की शिकायत पर जिला प्रशासन ने किया मामले की जांच  

०० नागवंशी को फ़साने वाले साजिशकर्ताओ के जिला प्रशासन ने लिए बयान, जांच प्रारंभ   

के नागे

बालोद| बालोद जिले के ग्राम अरमरीकला निवासी अग्रहिज नागवंशी परिवार को कुछ लोग मिलकर साजिश के तहत झूठे आरोप लगाकर बेवजह परेशान कर रहे थे जिसके कारण नागवंशी परिवार काफी डरा सहमा महसूस कर रहे थे| इस पुरे मामले की शिकायत अग्रहिज नागवंशी ने जिला प्रशासन से की थी जिसके बाद  जिला प्रशासन ने मामले की सुनवाई करते हुए जांच प्रारंभ किया व इस मामले के साजिशकर्ताओ के ब्यान लेकर जांच शुरू कर दिया है|

 

धमाका36.कॉम न्यूज के खबर का असर

 

अग्रहिज नागवंशी ने बालोद कलेक्टर को दिए शिकायत पत्र में कहा था कि वह शिक्षा विभाग से सेवा निवृत होने के बाद ग्राम पंचायत अरमरीकला का सरपंच पद का दायित्व ईमानदारी पूर्वक किया हूं जिसके कारण से गांव के कुछ असामाजिक तत्वों के लोगों द्वारा अनेक प्रकार के षड़यंत्र रच कर मुझे व मेरे परिवार को शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है जिसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक एवं जिला कलेक्टर से किया गया था जिस पर कार्यवाही करते हुए साजिस करताओ के ऊपर जांच किया जा रहा है उक्त मामले को लेकर नागवंशी ने बताया कि उनका छोटा पुत्र गोपी नागवंशी जो कि स्कूल में स्वीपर का कार्य कर रहे थे जिसका विवाह सामाजिक रीति रिवाज अनुसार हुआ था उसके 2 सन्तान है जिस दिन मेरे पुत्रवधू ने पड़ोस में रहने वाले पोषण सोनी के साथ घर छोड़कर गई जिसका गुरूर थाना में शिकायत दर्ज कराया गया था जिसके चलते कुछ लोगों ने मुझे बदनाम करने की कोशिश की जब अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए तो उन लोगो ने विवाह विच्छेद हो चुकी पुत्रवधू को शराब के नशे में धुत होकर मेरे घर आकार गाली गलौच मारपीट किया जिसकी शिकायत गुरूर थाना मे किया गया था|

 

धमाका36.कॉम न्यूज के खबर का असर

 

अग्रहिज नागवंशी ने बताया कि मेरे पुत्र गोपी नागवंशी ने आदिवासी परम्परा के अनुसार अपनी पत्नी गीता बाई से विवाह विःछेद कर लिया है| पोषण सोनी, गीता बाई, ओम प्रकाश शर्मा, संतोषी शर्मा ने षड़यंत्र रच कर 29. 7.2016 को गुरूर थाना मे झूठा रिपोर्ट दर्ज कराया है जिसमें कहा गया है कि गोपी नागवंशी ने रात्रि में गीता बाई के साथ गाली गलौज कर मारपीट किया गया है जो कि पूरा तरह से झूठ है| झूठी सूचना के बिना जांच किए थाना प्रभारी गुरूर ने मेरे व मेरे पुत्र के विरुध्द अपराध दर्ज कर दिया पोषण सोनी के उकसाने के प्रभाव में आकर मेरी तलाकशुदा बहू जो कि 11.4.16 से मेरे पुत्र का त्याग करके पोषण सोनी की पत्नी बनकर रह रही है और उसने धारा 12 के तहत न्‍यायलय में परिवाद पेश किया गया है 13. 1.18 को पोषण सोनी गीता बाई नारद साहू, दूकाल, तीजू राम, गरीब राम, पुरुषोत्तम गंगबेर, रामजी साहू, रेणुका बाई, ओम प्रकाश शर्मा, संतोषी शर्मा, अरमरीकला सुभाष मिश्रा, कोस्‍गोंदी के साथ सांठगांठ करके गुरूर थाना के एएसआई ने मुझे और मेरे पुत्र भीशम सिंह को बिना किसी जांच के न्यायलय में पेश करने के लिए नोटिस भिजवाया 25.12.17 को एएसआई और उमा शंकर सिन्हा शाम 5.25 आए और गीता बाई की शिकायत पर ब्यान लेने गुरूर थाना बुलाया गुरूर जाने संबंधी नोटिस जारी किया जाना था मगर बिना नोटिस दिए थाना चलने कहा 28. 12. 17 को जब थाना गया तो पता चला कि मेरे व मेरे पुत्र के विरुध्द अपराध दर्ज कर दिया गया था तीजू राम के प्रकरण में समझौता करने के लिए दबाव बनाया जा रहा था  साजिश कर्ताओं द्वारा मेरे परिवार के सदस्यों को शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया मेरे द्वारा पंचायत एवं आदिवासी समाज में मेरा कार्य नि स्वार्थ भाव से किया था लेकिन कुछ लोगो द्वारा मुझे जबर्दस्ती परेशान किया जा रहा था जिससे पूरा परिवार भय और डरा हुआ था की कब क्या होगा सच्चाई से कार्य करना गुनाह था मैंने अपने सेवा काल के दौरान कभी भी गलत कार्यों का समर्थन नहीं किया मेरे कार्य काल के दौरान किया गया विकास कार्य से अरमरीकला के आम आदमी से लेकर व्यापारियों महिलाओं और मजदूरों का विकास हुआ है और पूरे जिले में अपनी अलग पहचान बनाई है गांव में अवैध कार्य करने वालों को प्रतिबंधित कर दिया गया था जिससे आम लोगों में भारी प्रसन्नता थी वही कुछ लोगो द्वारा मेरे द्वारा किया गया कार्यो से असंतुष्ट होकर मुझे परेशान किया जा रहा था मुझे शासन प्रशासन के प्रति पूरा विश्वास है कि मेरे ऊपर सजिस कर जाल साजी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

error: Content is protected !!