सरगुजा जिले के कलेक्टर अगर “फ्रेश माल” है तो किस जिलो के कलेक्टर है बासीमाल मुख्यमंत्री बताये : विकास तिवारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने सूबे के मुखिया डाॅ. रमन सिंह द्वारा कल सरगुजा जिले के लोक सुराज में हुये पत्रकारवार्ता के दौरान कहे गये बयान पर कहा कि अगर सूबे के मुखिया ने पत्रकार द्वारा किये गये एक प्रश्न के जवाब में कहा कि सरगुजा जिलों के कलेक्टरों के बाल पके नहीं है, तो इससे ज्यादा “फ्रेश माल” कहा से लाये। पत्रकार ने पूछा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि उम्र दराज जिलाधीश विकास कार्यो की गति को प्रभाव करते है तो युवा आईएएस अधिकारियों को मौका मिलना चाहिये।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि सूबे के मुखिया डाॅ. रमन सिंह ने कुछ महिनों पहले प्रदेश के 27 जिलों के कलेक्टरों को पास-फेल किया था। जबकि प्रवक्ता विकास ने उस समय बयान जारी करके सूबे के मुखिया से पूछा कि 10 कलेक्टर किस आधार पर पास और 17 कलेक्टरों को किन मानको में फेल किया, किस विश्व विद्यालय के कुलपति से प्रश्नपत्र जांच करवाया तो प्रदेश सरकार ने जवाब नहीं दिया। कल के बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता ने जानना चाहा कि “फ्रेश माल” का मानक क्या है और प्रदेश में कितने कलेक्टर फ्रेश माल है और कितने कलेक्टर बासी माल है, इसकी सूची सूबे की मुखिया को जारी करनी चाहिये।

 

error: Content is protected !!