मुख्यमंत्री डाॅ. सिंह ने कोरिया जिले के ग्राम मेरो में लगाई चौपाल

ग्रामीणों से शासकीय योजनाओं के संबंध में प्राप्त की जानकारी
शासकीय प्राथमिक शाला भवन निर्माण के लिए 6 लाख
हाई स्कूल में फर्नीचर के लिए 2 लाख और टिपका पानी नाला में पुलिया निर्माण के लिए 30 लाख रूपये की दी मंजूरी

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) प्रदेश के मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह लोक सुराज अभियान के तृतीय चरण के तहत आज अचानक हेलीकाप्टर से कोरिया जिले के विकासखण्ड खड़गवां के ग्राम मेरो पहुचें। मुख्यमंत्री डाॅ. सिंह के हेलीकाप्टर से ग्राम मेरो पहुचनें पर मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह को देखने और उन्हें सुनने के लिए ग्रामीणों का ताता लग गया। ततपश्चात ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने उप स्वास्थ्य केन्द्र के प्रांगण में ग्रामीणों के साथ चौपाल लगाई। उन्होनें चौपाल में लोक सुराज अभियान के प्रथम चरण में ग्रामीणों द्वारा दी गई आवेदन पत्रों और उनके गुणात्मक निराकरण के साथ-साथ शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी प्राप्त की।
मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने चैपाल में कहा कि मै आप लोगो से मिलने आया हूॅ। सरकार की जनकल्याणकारी योजना गांव तक पहुच रहा है कि नही, योजना का लाभ ग्रामीण को मिल रहा है कि नही तथा योजना में कोई गडबड तो नही हो रहा है, यह जनाने के लिए भी आया हूॅ। मुख्यमंत्री डाॅ. सिंह के पूछे गये प्रश्नों के जवाब में ग्रामीणों ने सभी शासकीय योजनाओं का शतप्रतिशत लाभ प्राप्त होने की जानकारी प्राप्त की। इस पर मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने अपनी प्रसन्नता व्यक्त की। इसी तरह मुख्यमंत्री डाॅ सिंह ने चैपाल में प्राथमिक और हाई स्कूल के प्रधान पाठकों को अपने समक्ष बुलाकार शालाओं में बच्चों की दर्ज संख्या, उनकी उपस्थिति, उनकी शिक्षा-दीक्षा सहित इन शालाओं में शिक्षकों की संख्या आदि के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक कुलदीप कुजूर ने बताया कि वह दस साल से पदस्थ है और बच्चों को गुणात्मक शिक्षा दी जा रही है। उन्होनें बताया कि प्राथमिक शाला का भवन जीर्ण-शीर्ण हो गया है। उन्होनें नये प्राथमिक शाला भवन की मांग की। मुख्यमंत्री डाॅ. सिंह ने उनकी प्राथमिक शाला भवन की मांग को गंभीरता से लिया और बच्चों की हित के लिए तत्काल प्राथमिक शाला भवन निर्माण के लिए 6 लाख रूपये की राशि की स्वीकृति प्रदान की। इसी तरह हाई स्कूल की प्रधान पाठिका ने शाला में बच्चों की बैठने हेतु फर्नीचर नही होने की जानकारी दी। मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने शाला में बच्चों के लिए फर्नीचर व्यवस्था के लिए 2 लाख रूपये की मंजूरी दी है। इसी क्रम में ग्राम के सरपंच ने आवागमन की सुगम व्यवस्था के लिए टिपका पानी नाला में पुलिया निर्माण की मांग की। मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने ग्रामीणों की हित को देखते हुए टिपका पानी नाला में पुलिया निर्माण के लिए 30 लाख रूपये की मंजूरी दी। चैपाल में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री डाॅ. सिंह को उप स्वास्थ्य केन्द्र में बिजली और पानी की व्यवस्था नही होने की जानकारी दी। मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने इसे भी गंभीरता से लिया और उप स्वास्थ्य केन्द्र में बिजली और पानी की तत्काल व्यवस्था करने के लिए जिला कलेक्टर को निर्देश दिये। इस अवसर पर मनेन्द्रगढ क्षेत्र के विधायक श्याम बिहारी जायसवाल, छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव अजय सिंह, जनसम्पर्क विभाग के संचालक सह-सचिव स्वतंत्र प्रभार राजेश सुकुमार टोप्पों भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री डाॅ.सिंह ने चैपाल में ग्रामीणों से कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत प्रदेश के 35 लाख लोगो को मामूली दर पर गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इनमें से अधिकांश लोगो को किफायती दर पर गैस कनेक्शन दिया जा चुका है। शेष लोगो को भी माह अप्रैल तक किफायती दर पर गैस कनेक्शन दिया जायेगा। इसी तरह उन्होनें प्रधानमंत्री आवास योजना के संबंध में कहा कि प्रदेश में बड़ी संख्या में प्रधानमंत्री आवास का निर्माण किया जा रहा है। उन्होनें समस्त पात्र लोगो को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध कराने की जानकारी दी। इसी क्रम डाॅ.सिंह ने मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना के तहत राशन सामग्री की उपलब्धता एवं वितरण, मनरेगा की मंजूरी भुगतान, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, पेयजल, सौर सुजला योजना के तहत सोलर सिंचाई पंप, मध्यान्ह भोजन, पूरक पोशण आहार, जाति प्रमाण पत्र, नामांतरण, बटवारा, सीमांकन, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत प्रत्येक घर में बिजली, महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गांरटी योजना के तहत एक लाख 80 हजार रूपये की लागत से निर्मित होने वाले कुआ आदि के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्राप्त की। डाॅ.सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना के बारे में कहा कि यह योजना प्रत्यक्ष रूप से गरीबों से जुडा हुआ योजना है। उन्होनें कहा कि इस योजना को कभी बंद नही किया जायेगा। अंत में मुख्यमंत्री डाॅ. सिंह ने ग्रामीणों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। चौपाल में ग्राम मेरो सहित आस-पास के ग्रामीणजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

error: Content is protected !!