उत्तर प्रदेश के लोकसभा उपचुनाव के नतीजों पर राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पाण्डेय की राय

रायपुर| उत्तर प्रदेश के लोकसभा उपचुनाव के नतीजों पर राजनीतिक विश्लेषक प्रकाशपुन्ज पाण्डेय ने अपनी राय देते हुए कहा कि क्या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री होते हुए और केंद्र में सरकार होने के बावजूद भी खुद की ही सीटों (गोरखपुर और फूलपुर) पर हार जाना, मुमकिन है? मोदी जी का दोनों सीटों पर चुनाव के दौरान प्रचार न करना इतना सहज है? , जबकि भाजपा के लिए दोनों सीटें प्रतिष्ठा की थीं। क्या “मोदी के बाद योगी” की फिलासफी जो कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के बाद मीडिया की सुर्खियों में आ गई थी, वो भी एक कारण है? सब कुछ पूरी तरह से ठीक तो नहीं लगता क्योंकि इस साल के अंत तक राजस्थान, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव के बाद अगले साल के आम चुनाव के पहले ऐसी गलती कम से कम अमित शाह तो जान बूझकर नहीं कर सकते हैं।

 

error: Content is protected !!