नक्सली मुठभेड़ में जवानो की शहादत मुख्यमंत्री रमन सिंह के आत्म प्रचार के भेट चढ़ी ,डॉ रमन सिंह दे इस्तीफा ; सुब्रत डे 

०० भारतीय कानून के अनुसार मात्र सेना के जवानो का लड़ते हुये  वीर गति प्राप्त करना ही शहीद की परिभाषा

०० पैरा मिलिट्री फार्स या अर्ध सैनिक बलों की वीरगति पर शहीद का दर्ज़ा नहीं,केंद्र सरकार बदले नियम  ; सुब्रत डे

रायपुर| सुकमा जिले के किस्टाराम में नक्सलीयो द्वारा बारूदी विस्फोट कर CRPF के 9 जवानो को शहीद एवं आधे दर्ज़न जवानो को गंभीर रूप से घायल किये जाने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने शहीद जवानो को श्रदांजलि देते हुए कहा कि 36 घंटे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह सुकमा जिले के ग्राम इंजरम में लोक समाधान शिविर का आयोजन करते हैI शिविर के बाद मुख्यमंत्री इंजरम भेज्जी मार्ग में मोटर सायकल की सवारी कर नक्सलीयो से शांति का झूठा नाटक करते हुये  प्रदेश की जनता को चुनावी वर्ष में यह प्रदर्शित करने का प्रयास करते है कि उन्होंने नक्सलियों शांति स्थापित करवा दिया  और 36 घंटे बाद यह घटना मुख्यमंत्री की आत्म प्रचार की पोल खोल कर रख दिया हैI

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने  मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया है कि उनके सुकमा के लोक समाधान शिविर का आयोजन और रोड शो के चलते प्रशासन ने अपनी पूरी फाॅर्स मात्र मुख्यमंत्री के दौरे के मार्ग में  लगायी जिसके कारण नक्सलियों को इतनी बड़ी वारदात को अंजाम देने का मौका मिला और मुख्यमंत्री की जमीन से आसमान तक की सुरक्षा, मुख्यमंत्री के आत्म प्रचार का रोड शो,मुख्यमंत्री की प्रदेश की जनता के बीच नक्सली शांति का झूठा दिखावा से बेखबर चंद जवानो को अपनी जान देनी पड़ी I मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को पुरे घटना के लिए स्वयं को दोषी मानते हुए शहीदों के परिजनों , प्रदेश की जनता से माफ़ी मांगते हुये इस्तीफा दे देना चाहिएIजनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने  कहा की भारतीय कानून के अनुसार मात्र सेना के जवानो का लड़ते हुये  वीर गति प्राप्त करना ही शहीद की परिभाषा में आता है  किन्तु पैरा मिलिट्री फाॅर्स या अर्ध सैनिक बलों की वीरगति पर शहीद का दर्ज़ा नहीं मिलता जिसके कारण इन सैनिको को ‘ शहीद ‘ के परिजनों को मिलने वाली तमाम सुविधा नहीं मिल पाती जो इनके साथ अन्याय है I अतः केंद्र सरकार को नियमो में संशोधन कर इन्हे भी शहीद का दर्जा दिया जाना चाहिए I

 

error: Content is protected !!