700 की फीस नहीं देने पर छात्रा को 10वीं बोर्ड परीक्षा देने से किया वंचित

०० शिक्षा के व्यवसायीकरण के विरोध में जकाँछ ने किया मुकुल हायर सेकंडरी स्कूल का घेराव, नेताओँ ने दी गिरफ्तार

०० बालिका एकता प्रधान को पुनः छुटा हुआ पेपर देने दिया जाए,जकाँछ ने रखी मांग

बिलासपुर| जिले में शिक्षा के व्यवसायीकरण की लगातार घटनाएं सामने आती रही है।जिसमे स्कूल प्रबंधन द्वारा शिक्षा से ऊपर पैसे को तवज्जो देने और फ़ीस के नाम पर छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ एक आम बात हो गई है। जिससे आये दिन बच्चो के अभिभावकों को सामना करना पड़ रहा है। विगत दिनों बिलासपुर के बंधवापारा में स्थित मुकुल हायर सेकेंडरी स्कूल जो कि शासकीय मान्यता प्राप्त है उसकी एक घटना सामने आई जिसमें वहां शिक्षा प्राप्त कर रही 10वीं की छात्रा एकता प्रधान को मात्र ₹700 की फीस नहीं देने के कारण 10वीं की बोर्ड परीक्षा में पहला पेपर देने से वंचित कर दिया गया,ज्ञात हो कि एकता प्रधान अपनी माँ के साथ अकेली रहती है उनके पिता अब इस दुनिया मे नही है। माँ काफी गरीब है और एक स्कूल में काम करती है। होनहार बेटी को परीक्षा से वंचित रखने से दोनो स्तब्ध है।उक्त घटना की सूचना मिलने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे की बिलासपुर इकाई ने स्कूल प्रबंधन को घेरने उग्र  प्रदर्शन किया जकाँछ नेताओं को पुलिस द्वारा बलपूर्वक गिरफ्तार कर सरकंडा थाने ले जाया गया उसके पूर्व जनता कांग्रेस के आंदोलन की सूचना प्राप्त करते ही स्कूल प्रशासन अपने परिसर में ताला लगाकर वहां से भाग खड़ा हुआ।।

जनता कांग्रेस ने शहर की बेटी के साथ हुए अन्याय को गंभीरता से लेते हुए। स्कूल प्रबंधन, जिला शिक्षा अधिकारी और राज्य सरकार सभी को आड़े हांथो लेते हुए, आंदोलन को रेखांकित किया। आंदोलन का नेतृत्व प्रदेश सचिव जीतू ठाकुर, समीर अहमाद बबला,जिला प्रवक्ता विक्रान्त तिवारी और महामंत्री गजेंद्र श्रीवास्तव ने किया। बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओ ने स्कूल को घेराव करने मार्च किया जिससे स्कूल के गेट के पहले पुलिस ने बल पूर्वक कार्यकर्ताओ को रोका। कुछ देर झूमा झटकी और नारो से माहौल गर्म रहा।कार्यकर्ताओ को पुलिस ने जबरदस्ती गिरफ्तार कर सरकंडा थाने में ले जाकर बैठाया।उक्त आंदोलन के सम्बंध में जीतू ठाकुर ने कहा रमन सरकार सिर्फ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का झूठा नारा देकर राजनीति करती आ रही है, यथार्थ में बेटी के भविष्य के साथ निरंतर खिलवाड़ हो रहा है। शिक्षा प्रणाली में दीमक लग चुकी है, अब यह मात्र एक व्यवसायिक धंधा बन चुका है, हम इसका पुरजोर विरोध करेंगे। जिला प्रवक्ता विक्रान्त तिवारी ने कहा, महिलाओ और बालिकाओं का सम्मान सिर्फ महिला दिवस तक सीमित रह गया है, एक बेटी का भविष्य मात्र 700 रुपयों के कारण दांव पर लग जाता है और सरकार इसपर संज्ञान तक नही लेती यहीं यथार्थ है। जनता कांग्रेस छ्त्तीसगढ़, जनता को समर्पित पार्टी है हम उक्त बहन को न्याय दिलाने वचनबद्ध है, और भविष्य में अगर जिले की किसी भी शैक्षिक संस्था ने इस घटना की पुनरावृति की तो उक्त संस्थान की मान्यता रद्द करने जकाँछ आंदोलनरत रहेगी।जकाँछ ने सामूहिक रूप से मांग रखी कि शहर की बेटी एकता प्रधान को पुनः 10वी की परीक्षा देने व्यवस्था की जाए। अन्यथा मुकुल हायर सेकेंडरी स्कूल की मान्यता रद्द करवाने आगे भी आंदोलन किये जायेंगे।उक्त प्रदर्शन में मुख्य रूप से, जीतू ठाकुर, समीर एहमद बबला, विक्रान्त तिवारी, गजेंद्र श्रीवास्तव मणिशंकर पांडेय, विशम्भर गुलहेरे, बृजेश साहू, नीलेश माड़ेवार, बबलू जॉर्ज,चित्रकान्त श्रीवास, गौरव अग्रवाल, सत्येंद्र गुलेरी,आकाश दुबे,पिन्टू जायसवाल,रोहित अनन्त,विकास सिंह,इमरान जोगी,चित्रकान्त निडरवार,अंकित मिश्रा,राज बंजारे, मनीष मिश्रा, राज बहादुर,सुहंग दास एवं बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।।

 

error: Content is protected !!