भाजपा के जय ने वीरू की राज्यसभा जाना तय तो पच्चीस गांव वालों का नाम पानी टंकी में चढ़कर क्यो घोषित किया : विकास तिवारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रवक्ता विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के द्वारा जारी किए गये राज्यसभा प्रत्याशियों की सूची पर तंज कसते हुए कहा कि जहां एक और राज्यसभा जैसे गरिमामय पद पर एक सीट के पीछे भाजपा ने 25 नामों को पैनल बनाया है और प्रदेश भाजपा के कद्दावर नेताओं का नाम सम्मिलित किया गया है इसके पूर्व कभी भी भाजपा ने एक सीट के पीछे 25 नाम नहीं दिये थे इस गरिमामय पद के लिए वैसे ही नामों का चयन किया गया जैसा कि वार्ड स्तर के पार्षद चुनाव के समय प्रत्याशियों का नाम का पैनल बनाया जाता है।

प्रवक्ता विकास ने तंज कसते हुये कहा कि जब बीजेपी के जय अपने लाडले वीरू का नाम राज्यसभा के लिये तय कर ही लिया था तो प्रदेश के पच्चीस अन्य लोगों का नाम पानी टंकी में चढ़कर क्यों जोर-जोर से घोषित किया इससे यह साफ जाहिर होता है कि छत्तीसगढ़ भाजपा में केवल दो ही लोगों का वर्चस्व चल रहा है। इस कारण प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष और पूर्व विधायक पूर्व विधायक धरमलाल कौशिक को सुरक्षित करने के लिए उनका नाम राज्यसभा के लिए तय कर दिया गया है और खानापूर्ति के लिए वरिष्ठ पदाधिकारियों को अपमानित करने के लिए 25 नामों का पैनल बनाया गया है। जहां एक ओर भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेता अरुण जेटली और रविशंकर प्रसाद के नाम राज्यसभा उम्मीदवार घोषित होने के बावजूद उनके द्वारा राज्यसभा के नामांकन फॉर्म नहीं लिये जाते, वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा नाम घोषणा के पूर्व ही 10 रू. का नामांकन फार्म खरीदा जाता है इससे यह साबित होता है कि भाजपा में वर्चस्व की लड़ाई और अंतर्कलह अब सतही स्तर पर आ चुका है। प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पी.एल. पुनिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं द्वारा लगातार एक-एक बूथ स्तर से लेकर विधानसभा स्तर की तैयारियों को देख भारतीय जनता पार्टी की सरकार और संगठन के होश उड़ गये है और हाल ही में राष्ट्रीय स्तर के मीडिया सर्वे में अपनी पार्टी की प्रदेश में अपनी सरकार ना बनता देख भाजपा के शीर्ष नेतागण राज्यसभा जाने की जुगत में नूरा-कुश्ती खेल रहे है।

 

error: Content is protected !!