आठ मार्च अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

 

महिलाएं आज देश और समाज के विकास में अपनी अहम भूमिका निभा रही है – श्रम मंत्री राजवाड़े

सामाजिक कुरीतियों को दूर करने में महिलाओं की होती है अहम भूमिका

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) बैकुण्ठपुर अंतर्राश्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च के अवसर पर आज जिले में महिलाओं को और अधिक सक्षम बनाने के लिए विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। मुख्य कार्यक्रम प्रदेश के श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री भईयालाल राजवाड़े के मुख्य आतिथ्य में जिला मुख्यालय स्थित मानस भवन में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य आतिथ्य राजवाड़े ने अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के लिए महिलाओं को अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर उन्होनें महिलाओं के उत्थान के लिए उत्कृश्ठ कार्य करने वाली महिलाओं और स्वंय सहायता समूह की महिलाओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। प्रदेश के श्रम मंत्री और कार्यक्रम के मुख्य अतिथ्यि राजवाड़े ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाएं स्वंय शक्ति है। उन्होनें कहा कि महिलाओं में अपनी क्षमता और अधिकारों की पहचान होती है और वे आज हर क्षेत्र में आगे बढ रही है और देश व समाज के विकास में अपनी अहम भूमिका निभा रही है। श्रम मंत्री राजवाड़े ने कहा कि राज्य शासन द्वारा भी महिलाओं के सम्मान और विकास को प्राथमिकता दी गई है। महिलाओं को आगे लाने के लिए पंचायतों में 50 प्रतिशत आरक्षण, बालिकाओं को निःशुल्क शिक्षा, सरस्वती सायकल आदि की सुविधाएं दी जा रही है। जो उनके आगे बढ़ने में कारगर कदम साबित हो रहा है। इसी तरह महिला सशक्तिकरण के लिए भी विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। जो उन्हें आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाने में सार्थक साबित हो रही है। कार्यक्रम को जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती कलावती मरकाम ने भी संबोधित किया। उन्होनें कहा कि महिलाओं के सम्मान के बढोत्तरी के लिए प्रत्येक वर्श आठ मार्च को अंतराष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन किया जाता है। यह खुशी की बात है। उन्होनें महिलाओं को अपने सर्वागीण विकास के लिए हर क्षेत्र में आगे आने की बात कही। नगर पालिका पालिका बैकुण्ठपुर के अध्यक्ष अषोक जायसवाल ने कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होनें कहा कि आज महिलाएं और अधिक जागरूक हुई है और हर क्षेत्र में आगे आकर अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन कर रही है। कलेक्टर नरेन्द्र कुमार दुग्गा ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। कलेक्टर दुग्गा ने कहा कि समाजिक कूरीतियों को दूर करने में महिलाओं की अहम भूमिका होती है। महिलाओं के सार्थक प्रयास से ही कई प्रकार की सामाजिक कूरीतियों को दूर किया गया है। उन्होनें कहा कि महिलाओं में कार्य करने की अधिक क्षमता होती है। बसर्ते उनकी क्षमता को आगे लाने की आवश्यकता होती है। उन्होनें कहा कि जिला प्रशासन द्वारा महिलाओं को और अधिक जागरूक करने एवं उन्हें सशक्त बनाने के लिए कई कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। उन्होनें कहा कि महिलाओं को आगे लाने के लिए उचित मूल्य दुकानों की संचालन की जिम्मेदारी दी गई है। महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत मामूली दर पर गैस कनेक्शन दिया जा रहा है। इसी तरह महिलाओं को समाज में आर्थिक रूप से सम्पन्न बनाने और उनके आय में दोगुना वृद्वि के लिए विभिन्न योजनाओं में आगे लाने का सार्थक प्रयास किया जा रहा है। कार्यक्रम को जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तुलिका प्रजापति और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती निवेदिता पाल शर्मा ने भी संबोधित किया। इसके पूर्व महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी चन्द्रवेश सिसोदिया ने महिलाओं के उत्थान के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं की विस्तार पूर्वक जानकारी दी। इस अवसर पर जिले के पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला, वरिश्ठ नागरिक, जनप्रतिनिधि, मीडिया के प्रतिनिधिगण और बंडी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी।

error: Content is protected !!