बिलासपुर हाईकोर्ट के आदेश पर सालों से बंद पड़ी अचानकमार टाइगर रिजर्व को फिर से खोला गया

०० हाईकोर्ट ने कलेक्टर आदेश को किया निरस्त कहा,आम जनता व जंगलो में रहने वाले उन हजारो लोगो के लिए खोला जाए अचानकमार का बंद रास्ता

संजय बंजारे

करगी रोड कोटा| बिलासपुर हाईकोर्ट ने आज एक सुनवाई के दौरान अंतिम फैसले में अचानकमार टाईगर रिजर्व के आम रास्ता को खोलने का आदेश आखिर में दे ही दिया है। हाईकोर्ट ने बंद अचानकमार टाइगर रिजर्व जो सालो से ये रास्ता बंद था,, बिलासपुर कलेक्टर के आदेश को निरस्त करते हुए यहा आदेश दिया है।की अचानकमार रास्ते को फिर से खोला जाए, हाईकोर्ट ने यह फैसला जनता कांग्रेस नेता धर्मजीत सिंह लोरमी पूर्व विधायक व मणिशंकर पान्डेय की जनहित याचिका पर यह फैसला सुनाया
आपको बता दे  कि वन प्रबंधन के निर्देश पर कलेक्टर बिलासपुर ने करीब सालो से अचानकमार टाइगर रिजर्व से गुजरने वाले आम रास्ता को बद कर दिया गया था। प्रशासन का मानना था कि अचानकमार टाईगर रिजर्व है। वाहनों और आम नागरिको के आवागमन से जीव जंतु  और खासतौर टाइगर समेत अन्य वन्य प्राणियों को नुकसान है। राहगीरों को भी खतरा है। कलेक्टर बिलासपुर के आदेश के बाद अचानकमार टाइगर रिजर्व के रास्ते को बद कर दिया गया।
इस  मामले में पूर्व विधायक लोरमी व जनता कांग्रेस जोगी नेता धर्मजीत सिंह और प्रवक्ता मणिशंकर पाण्डेय ने हाईकोर्ट में नहित याचिका पेश कर रास्ता खोलने की माग की। याचिकाकर्ताओं ने दावा किया था कि अचानकमार में टाइगर है या नहीं वन प्रबंधन भी स्पष्ट नहीं है। याचिका पर सुनवाई करते हुए 7 मार्च 2018 को आदेश पारित करते हुऐ कलेक्टर बिलासपुर के आदेश को निरस्त कर दिया। हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि आम जन के आवाजाही के लिए खोला जाए। याचिका पर सुनवाई जस्टिस संजय के अग्रवाल के न्यायालय मे हुई । अचानकमार टाईगर रिजर्व खुलने से आम जनता को बहोत ही राहत मिली है रास्ता खुलने से छोटे-मोटे व्यापारी गढ़ को भी बहुत खुशी मिली है क्योंकि टाइगर रिजर्व बंद होने से बहुत लोगों की व्यापार में नुकसान होता था और वहां पर रहने वाले ग्रामीण लोगों को भी राहत की सांस मिली है कि अब रास्ता खुल गया है वाह आने जाने में किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि रास्ता बंद होने से गाड़ियों का चलन बंद हो गया था इसलिए करगी रोड कोटा से लेकर टाइगर रिजर्व तक वह आगे जाने में भी लोगों को परेशानी हो रही थी लेकिन अब लोगों को नहीं होगी क्योंकि यह रास्ता सालों से बंद हो गई थी उसको हाई कोर्ट बिलासपुर के आदेश अनुसार फिर से खोल दिया गया है,,,,  इस मामले की पैरवी अधिवक्ता सतीशचन्द्र वर्मा ने की है।

 

 

error: Content is protected !!