अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं सुलभ कराने सरकारी और निजी क्षेत्र को मिल कर करना होगा काम: डॉ रमन सिंह

०० मुख्यमंत्री ने एसोसियशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया के छत्तीसगढ़ चेप्टर के 17 वें वार्षिक सम्मेलन का किया शुभारंभ

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि आम जनता को, विशेष रूप से ग्रामीण अंचलों में अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने में सरकारी और निजी क्षेत्र को मिलकर काम करना होगा। मुख्यमंत्री आज शाम यहां एसोसिएशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया (ए.एस.आई.) के छत्तीसगढ़ चेप्टर के 17वें वार्षिक सम्मेलन का शुभारंभ कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने अनेक वर्षों से मानवता की सेवा कर रहे वरिष्ठ शल्य चिकित्सकों को लाइफ टाइम एचिवमेंट एवार्ड से सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर शल्य चिकित्सक यदि माह में कम से कम दो जरूरतमंद मरीजों की निःशुल्क शल्य चिकित्सा करें तो यह मानवता की सेवा का एक बड़ा कार्य होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि नये राज्य छत्तीसगढ़ में स्वस्थ पीढ़ी का निर्माण सबसे बड़ी चुनौती था। इस चुनौती का सामना करने के लिए स्वास्थ्य संबंधी अधोसंरचना के विकास के लिए पिछले 14 वर्षों में योजनाबद्ध प्रयास किए गए। आज दूरस्थ अंचल के बीजापुर जिला चिकित्सालय में जहां पहले ओपीडी में आठ से दस मरीज प्रतिदिन आते थे, आज वहां एक माह में 200 से 300 मरीजों की शल्य चिकित्सा की जा रही है। इस अस्पताल में 36 चिकित्सक काम कर रहे हैं। सभी जिला अस्पतालों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं से सुसज्जित किया जा रहा है। बलरामपुर जिला अस्पताल में भी मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर का निर्माण जल्द किया जाएगा। इस अवधि में प्रदेश में मेडिकल कॉलेजों की संख्या दो से बढ़कर 10 हो गई है। पहले प्रदेश में एक भी नर्सिंग कॉलेज नहीं था, जिनकी संख्या अब बढ़कर 68 हो गई है। डॉ. सिंह ने चिकित्सक के रूप में अपनी प्रेक्टिस के अनुभव साझा किए। उन्होंने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना में प्रदेश के 56 लाख परिवारों को 50 हजार रूपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। डॉ. सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना के अंतर्गत अब तक लगभग 7000 बच्चों के हृदय रोग के इलाज के लिए शासन के खर्च पर सर्जरी की गई है। मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में अम्बिकापुर मिशन अस्पताल की डॉक्टर एम.एल बेट्रिस, डॉ. अनुराधा दुबे, डॉ. दिलीप एस. गोरे, डॉ. आर.एस. नायक, डॉ. एस.जे. रिजवी और डॉ. संदीप दवे  को लाइफटाईम एचिवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने डॉ. बेट्रिस के सेवा भाव का उल्लेख करते हुए कहा कि वे सरगुजा अंचल में पिछले 40 वर्षों से जरूरतमंद मरीजों की निःशुल्क सर्जरी कर रही हैं। डॉ. अनुराधा दुबे ने मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना के तहत 800 बच्चों का ऑपरेशन किया है। एसोसिएशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. दिलीप एस.गोरे, आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ. सुभाष अग्रवाल, सम्मेलन आयोजन समिति के सचिव डॉ. देवेन्द्र नायक ने भी अपने विचार प्रकट किए। इस अवसर पर एएसआई छत्तीसगढ़ चेप्टर के अध्यक्ष श्री तरूण नायक सहित अनेक वरिष्ठ सर्जन उपस्थित थे। यह आयोजन श्री बालाजी ग्रुप ऑफ हास्पिटल्स एण्ड कॉलेजेस द्वारा रायपुर मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग और सर्जन्स क्लब रायपुर के सहयोग से ए.एस.आई. छत्तीसगढ़ चेप्टर के तत्वावधान में किया गया।

 

error: Content is protected !!