रमन समर्थकों द्वारा ट्वीटर पर की भूपेश बघेल के साथ गाली गलौज

०० भूपेश बघेल ने  संयमित और संतुलित जवाब

०० भूपेश बघेल के जवाब पर फिर से रमन समर्थकों की गाली गलौज

रायपुर। मुख्यमंत्री रमन सिंह के अहंकार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने मीडिया और सोशल मीडिया में उजागर करने से रमन समर्थक बौखला गये है और गाली गलौज पर उतर आये है। सोशल मीडिया में रमन समर्थकों की भाषा पर कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि इन ट्वीट की भाषा से स्पष्ट है कि रमन खेमे ने अपना संतुलन खो दिया है। क्या रमन समर्थकों की यही इनकी शुचिता और नैतिकता है?

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने मांग की है कि जांच करवायी जाये कि क्या मुख्यमंत्री निवास से यह सब हरकत करवायी जा रही है। जिस ID से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के ट्वीट पर गालीगलौज की जा रही है, उसे केंद्रीय रेल राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार पीयूष गोयल के कार्यालय से फॉलो किया जाता है। इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण और कुछ नहीं हो सकता है। राजनीति में ऐसी अशोभनीय भाषा एवं गाली गलौज स्वीकार्य नहीं है। दरअसल भूपेश बघेल ने असलियत खोल कर रख दी। रमन सिंह के अहंकार को बेनकाब कर दिया है, इससे रमन समर्थक बौखला गये है और गाली गलौज पर उतर आयी है। रमन समर्थकों द्वारा गाली गलौज और भद्दी भाषा के प्रयोग पर सधी हुयी और संतुलित प्रतिक्रिया देते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने ट्वीट में कहा है कि ‘‘आप मेरी आलोचना कीजिए, जमकर विरोध कीजिए। स्वस्थ आलोचना का स्वागत है। लेकिन भाषा का ख्याल अवश्य रखिए। इस तरह की असंसदीय भाषा का इस्तेमाल लोकतंत्र के लिये घातक है।’’

 

error: Content is protected !!