छात्रों में विवाद और प्रशासनिक फैसले बदलने का कारण कौन ???

 

(रवि ग्वाल ) कवर्धा- पीजी कॉलेज में वार्षिक उत्सव को लेकर विवाद की स्थिति बनी हुई है साथ में कुछ लोगों द्वारा चूहा बिल्ली जैसे खेलों को अंजाम दिया जा रहा साथ ही मामला दादागिरी की नजर आ रही है मामला है वार्षिक उत्सव में अपने पसंद के नेताओं को पीजी कॉलेज कवर्धा लाने की जिसमे पीजी कॉलेज मनोनीत अध्यक्ष सुनील कुमार यादव और उनके पदाधिकारियों का कहना है की छत्तीसगढ़
के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी को इस बार वार्षिक उत्सव में बुलाया जाए तो दूसरी ओर ABVP और गुप्त सपोर्टरों के साथ छात्रों का कहना है भाजपा विधायक मंत्री और सांसदों को बुलाया जाए और एक दूसरे की बातों में अडिग होने के चलते पीजी कॉलेज कवर्धा में विवाद की स्थिति बनी हुई है और बड़ी बात तो ये है कि जोगी कांग्रेस के नेताओं द्वारा सुनील कुमार मनोनीत अध्यक्ष को सपोर्ट करते हुए उनके साथ खड़े है तो दूसरी ओर ABVP के छात्रों के साथ कुछ पार्टी नेता जिसके चलते छात्रों में विवाद को खत्म करने को लेकर 21.02.18 तारीख को पीजी कॉलेज कवर्धा में कवर्धा SDM , तहसीलदार ,कॉलेज प्रशासन और मीडिया के समक्ष आधे घंटे मौन धारण करने के पश्चात आखिकार ऊपरी फैसला आने के बाद हल कवर्धा SDM ने निकाल ही लिया जिसमे फैसला था कि वार्षिक उत्सव कार्यक्रम में अध्यक्षता करने भाजपा सांसद अभिषेक सिंह को बुला लिया जाए और मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को बुला लिया जाए साथ ही स्थानीय अन्य और नेताओं को बुला लिया जाए जिस बात से सभी लोगों और कॉलेज प्रशासन जिला प्रशासन प्रतिनिधित्व ने सहमति जताया साथ ही इस बात को प्रशासनिक प्रतिनिधित्व करने पहोचे कवर्धा SDM ने मीडिया में भी बात दिया कि इस बार वार्षिक उत्सव को लेकर चल रहे छात्रों के आपसी विवाद खत्म हो गया है साथ ही आज जो फैसला लिया गया जिसमें अध्यक्षता भाजपा सांसद अभिषेक सिंह और मुख्य अथिति के रूप में पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी के सुप्रीमो अजीत जोगी को बुलाया जाएगा साथ ही कुछ स्थानीय नेताओं को और इस फैसले को सभी लोगों ने स्वीकार कर लिया है ।

मगर ठीक दूसरे दिन ना कवर्धा SDM का फैसला और कही बातें मायने रखने की खबर आ चली है और नाही कॉलेज प्रशासन और शिक्षा के मंदिर में शिक्षकों के जुबान कायम रहने की बात सामने आ रही है साथ ही मीडिया को भी दर किनारे कर दिया गया कारण है कि आज 22.02.18 शाम को सुनील कुमार यादव मनोनीत अध्यक्ष पीजी कॉलेज कवर्धा और जोगी जनता कांग्रेस ने मीडिया को विज्ञप्ति के माध्यम से अवगत कराया कि पुनः पीजी कॉलेज प्राचार्य एवं अन्य जवाबदार लोगों के द्वारा आयोजन के आमंत्रण कार्ड में अजित जोगी का नाम नही होना एवं मुख्य अतिथि के रूप में वन मंत्री के नाम छापे जाने की जानकारी दी जा रही है साथ ही छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी और कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष और अन्य विद्यार्थियों का जवाब देहि अधिकारी व कॉलेज प्रशासन से कहना है कि हम आखरी बार पत्र व्यवहार करते हुए निवेदन करतें है कि हम विवाद की स्थिति नही चाहते और जो बात औऱ फैसला कवर्धा SDM , तहसीदार , कॉलेज प्रशासन और मीडिया के बीच हुई है उसे निभाते हुए आगे विवाद होने की स्थिति पैदा ना करते हुए फैसला या त्वरित कार्यवाही करें अन्यथा कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष के साथ अन्य विद्यार्थीगण इस वार्षिक उत्सव आयोजन का बहिष्कार करेंगे और साथ ही पुरजोर विरोध भी ।
अगर विवाद को खत्म करने के चलते किये गए प्रशासनिक फैसले दरकिनार कर दिया जाए तो यह बहोत ही दुर्भाग्य का विषय बन जायेगा साथ ही प्रशासनिक छवि भी धूमिल नजर आने लगेगा मगर सबसे बड़ी बात और सोचनीय विषय यह रह गया कि किसके दबाव और दादागिरी के चलते यह फैसला टालने की बात सुनाई और दिखाई नजर आ रहा है और वह कौन व्यक्ति है जो छात्रों में विवाद की स्थिति चाहता है और किये सामूहिक,प्रशासनिक फैसले पर रोक लगाना चाहता है ।

कवर्धा SDM सी.के. कौशिक – से जब किये फैसले की बात तथा टालने की बात पूछने पर सीधा सीधा
जवाब आया और आरोप कॉलेज प्रशासन के ऊपर थोप दिया और साहब का मायूसी भरी शब्दों से कहना था कि पता नही यार ये लोग कैसे कर रहे है मुझे भी नही बताया गया और नाही मुझे पता है।

सुनील केशरवानी जनता काँग्रेस (जे) कवर्धा विधानसभा अध्यक्ष – अगर कॉलेज प्रशासन विवाद की स्थिति बनाना चाहतें है तो सम्पूर्ण तरीके से हमारी पार्टी सुनील कुमार यादव पीजी कॉलेज अध्यक्ष के साथ खड़ें है साथ ही बहोत सोचनीय विषय है जन भागीदारी अध्यक्ष पीजी कॉलेज मनोज गुप्ता – मुझे मालूम नही की किनको बुलाया जा रहा है बस मुझे इतना मालूम है कुछ मीटिंग हुआ है कॉलेज में इस मुद्दे को लेकर साथ ही हमारे द्वारा उसके बाद हमारे माध्यम से माननीय अभिषेक सिंह और विधायक अशोक साहू को बुलाने आवेदन प्रस्तुत किये है बांकी आज जो आपके माध्यम से अतिथि बदलने की बात हो रही है इस मामले में मैं कुछ नहीं जानता।

error: Content is protected !!