अगला चुनाव अन्नदाताओं के मुद्दे पर लड़ा जायेगा : पुनिया

रायपुर।  छत्तीसगढ़ प्रदेश किसान कांग्रेस की आवश्यक बैठक प्रदेश कांग्रेस कार्यालय कांग्रेस भवन में रखी गयी थी जिसमें प्रदेश प्रभारी पी.एल. पुनिया, कार्यकारी अध्यक्ष डाॅ. शिवकुमार डहरिया, सांसद छाया वर्मा, वरिष्ठ नेता मो. अकबर, रामगोपाल अग्रवाल, गिरीश देवांगन, पी.आर. खुंटे, किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर शुक्ला सहित किसान कांग्रेस के सभी जिला अध्यक्ष एवं सभी प्रदेश पदाधिकारी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर प्रदेश प्रभारी पी.एल. पुनिया ने कहा कि अगला चुनाव किसानों के अन्नदाताओं के मुद्दे पर लड़ी जायेगी। पुनिया ने आगे कहा कि वर्तमान में मोदी सरकार किसानो के आय को डेढ़ गुना एवं दुगुना करने की बात करती है। वही सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र देकर स्वामीनाथन आयोग के सिफारिशों को एक सिरे से नकारती है। पुनिया जी ने कहा कि स्वतंत्रता के बाद भारत में खाने को भी अन्न नहीं था, प्रथम पंचवर्षीय में जवाहरलाल नेहरू ने किसानों की चिंता की। उसी समय लालबहादुर शास्त्री ने पूरे देशवासियों को एक समय का व्रत सप्ताह में रखने का आव्हान किया था। पुनिया जी ने कहा कि प्रथम एवं द्वितीय हरित क्रांति एवं आपरेशन फ्लड (दुग्धक्रांति) कांग्रेस की देन है। कांग्रेस ही किसानों की सच्ची हिमायती पार्टी है। सांसद छाया वर्मा ने कहा कि भाजपा किसानों के मुद्दों पर सिर्फ जुमलेबाजी करती है। हालात ये है कि सीमा पर जवान एवं खेत में किसान लगातार निरंतर मर रहे है और सरकार के पास कोई योजना नहीं है। एवं जो भी योजना की बात करते है वो 2022 की करते है। जबकि उनकी सरकार 2019 में बदल जानी है। वरिष्ठ नेता मो. अकबर ने सब्सिडी घोटालों और कृषि के नाम पर घोटालो को उजागर किया है। गरियाबंद के सोलर पंप घोटाला एवं दक्षिण बस्तर एवं कांकेर के कृषि यंत्र घोटाला को विस्तार से बताते हुये कहा कि इस सरकार के पास किसानों को समर्थन मूल्य तो क्या बोनस देने तक को पैसे नहीं है। तथा ये सरकार पिछले 14 वर्ष में 80 हजार करोड़ के कर्ज में डूब चुकी है। जबकि 2003 में कांग्रेस सरकार ने 900 करोड़ बचत छोड़ कर गयी थी। किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर शुक्ला ने कहा कि पूरे प्रदेश के सभी जिला मुख्यालय में किसान कांग्रेस संपूर्ण कर्जमाफी, सूखा राहत, फसल बीमा एवं बिजली की दरों में कमी को लेकर वृहद आंदोलन करेगी तथा तद उपरांत समस्त संभाग मुख्यालय में बड़ा आंदोलन किया जायेगा। जिसमें प्रदेश के सभी वरिष्ठ नेता  शामिल होंगे। आज के कार्यक्रम में सुरेन्द्र तिवारी, जनक नंदन कश्यप, चंद्रदेव महंत, दिनेश यादव, जगदीश पाड़े, कृष्णा देवांगन, सुरेन्द्र दाउ, लालबहादुर चंद्रवंशी, रामकृष्ण साहू, रूपलाल कोसरे, विनय शुक्ला, अशरफ बनक, सुरेन्द्र सिदार, मुनउर रजवाड़े, वीरभद्र सिंह, रामविलास साहू, संदीप अग्रवाल, तपन चंद्राकर, पुकेश चंद्राकर, राजू साहू, दाउलाल चंद्राकर, राजेन्द्र भारती, वंशगोपाल जायसवाल, प्रवीण चंद्राकर, सौरभ मिश्रा, डाॅ. कमलनैन पटेल, कल्याण पांडेय, महेन्द्र यादव, हेमंत उपाध्याय, दयाराम साहू, मदन साहू, गुलाब वर्मा, रंजित चंदेल, परदेशी निषाद, सुरेश पाटले सहित सैकड़ों किसान नेता शामिल हुये।

 

 

error: Content is protected !!