विकास उपाध्याय के साथ पहाड़ी चौक के प्रभावित गिरफ्तारी देने पहुंचे खमतराई थाना

०० जनप्रतिनिधियो पर एफआईआर का किया विरोध

०० पीड़ितों ने झूठी शिकायत दर्ज कराने वाली जोन आयुक्त खटीक के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध करने की मांग की है,

०० भाजपा के शासन में अपनी बात रखने पर भी जेल जाना पड़ सकता है -विकास

रायपुर|  पहाड़ी चौक में तोड़े गये मकान दुकान का मुआवजा मांगने गये जोन कार्यलय गये लोगों पर की गई एफआईआर  के विरोध में बुधवार को शहर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विकास उपाध्याय के साथ पहाड़ी चौक के प्रभावित गिरफ्तारी देने खमतराई थाना पहुंचे। मंगलवार को जोन आयुक्त कृष्णा खटीक ने  पार्षद  एवं एमआईसी सदस्य श्रीकुमार मेनन  जोन अध्यक्ष अन्नू साहू ,पार्षद रामदास कुर्रे  एवं अन्य लोगों के खिलाफ  खमतराई थाना में एफआईआर दर्ज करा कर कराई थी।पूरा मामला पहाड़ी चोक में सड़क चौड़ीकरण के नाम से तोड़े गये मकान दुकान का मुआवजा मांगने का है।

शहर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विकास उपाध्याय के साथ पहाड़ी चौक में तोड़े गए मकान दुकान के मालिकों ने मोटरसाइकिल एवं अन्य वाहनों से खमतराई थाना पहुंचे साथ में स्थानीय पार्षद अनु साहू रामदास कुर्ला विमल गुप्ता भी थे खमतराई थाना के बाहर जनप्रतिनिधियों पर की गई एफआईआर की विरोध में काफी देर तक नारेबाजी की गई इस दौरान काफी संख्या में महिलाएं बच्चों के दांत थाना के बाहर प्रदर्शन कर रही थी पीड़ितों द्वारा गिरफ्तारी देने की पूर्व सूचना के बाद थाना के मुख्य द्वार को बंद कर दिया गया था एवं बड़ी संख्या में पुलिस के जवान की ड्यूटी प्रदर्शनकारियों को रोकने लगाई गई थी।थाने के बाहर करीब 1 घंटे तक प्रदर्शन चला  बाद में थाना प्रभारी पूर्णिमा लामा ने प्रदर्शनकारियों से चर्चा की इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने थाना प्रभारी पर जबरदस्ती जनप्रतिनिधियों के ऊपर FIR दर्ज करने का आरोप लगाया जिस पर थाना प्रभारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया शिकायत प्राप्त हुई है जिसकी जांच अभी होना बाकी है अगर शिकायत में आपत्ति है तो वेे सभी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं जब तक सभी लोगों से पूछताछ नहीं होगी तब तक FIR दर्ज नहीं किया जाएगा इसके बाद प्रदर्शन में शामिल प्रभावितों ने लिखित में थाना प्रभारी को पत्र सौंपा जिसमें जोन आयुक्त पर मंत्री राजेश मूणत के दबाव में कपोल कल्पित आरोप मढ़कर जनप्रतिनिधियों के खिलाफ झूठी शिकायत एवं FIR दर्ज कराने का आरोप लगाया गया। पीड़ितों ने अपने पत्र में कहा कि जिस वक्त कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल जोन आयुक्त से चर्चा कर रहे थे उस समय वे सभी उस स्थान पर मौजूद थे और जनप्रतिनिधियों के द्वारा किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार या ऐसा कोई कार्य नहीं किया गया जिससे शासकीय संपत्ति को क्षति पहुंची है लेकिन पहाड़ी चौक में हुए तोड़फोड़ का मुआवजा मांगने पर दबाव डालने के लिए कानूनी पचड़े फसाने जोन आयुक्त ने बेवजह का शिकायत दर्ज कराई है पीड़ितों ने अपने पत्र में कपोल कल्पित झूठी शिकायत दर्ज कराने के आरोप में जोन आयुक्त श्रीमती कृष्णा खटीक के ऊपर अपराध पंजीबद्ध करने की मांग की। शहर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विकास उपाध्याय क्षेत्रीय विधायक एवं लोक निर्माण मंत्री राजेश मूरत के ऊपर मनमानी करने का आरोप लगाया  उन्होंने कहा कि  विकास कार्यों के नाम से बिना सहमति बिना मुआवजा लोगों के घरों दुकानों को तोड़ दिया गया है  अब जब लोग मुआवजा मांगते हैं  तो उन्हें  कानूनी पचड़े में फंसा कर उनकी आवाज को दबाने की कोशिश किया जा रहा है उन्होंने कहा कि  जनप्रतिनिधि  पीड़ितों को लेकर  उच्च अधिकारियों के पास ही जाएंगे  लेकिन ऐसा लगता है कि जनप्रतिनिधियों की आवाज को दबाने के लिए  अधिकारी अब  निम्न हरकत में उतर आए हैं  आखिर जनप्रतिनिधि और प्रभावित  अपनी आवाज को अपनी मांगों किसके पास रखेंगे  और भारतीय जनता पार्टी के शासन काल में आप को अपनी बात रखने पर भी जेल जाना पड़ सकता है ।प्रदर्शन में विमल गुप्ता,वंदना गुप्ता,सुशीला साहू सरस्वती साहू पूर्णिमा साहू  उमा बाई प्रतीक तिवारी लता सेन समीन वर्मा रुखमणी साहू लीला साहू जगन्नाथ यादव साजिदा बेन सूरज पांडे किशोर सोनकर मुरली साहू दाऊ लाल साहू अनिल बर्गे धनंजय सिंह शिव श्याम शुक्ला देव कुमार साहू मनीषा शर्मा ईश्वर चक्रधारी संजू विश्वकर्मा कमल कांत शुक्ला रवि तिवारी गजेंद्र पांडे रवि राव बाबा वर्मा दिनेश पांडे राजेश बघेल शिरीष अवस्थी वेद प्रकाश अखिल दिवान,हजनुन बानो, पिंकी बाग़ एवं बड़ी संख्या में महिलाएं वह कांग्रेस जन उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!