पीड़ितों को न्याय दिलाने आये है और जल्द से जल्द दिलाएंगे – रा.महि.आ.प्र.रेखा मेश्राम

 

रवि ग्वाल (कवर्धा) – दो नाबालिक बालिकाओं के ऊपर हुए अत्याचार की पूछताछ और नाबालिक पीड़ितों को सामाजिक और कानूनी न्याय दिलाने को पहुंची छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग के जिला प्रभारी रेखा मेश्राम और सदस्य ममता साहू बता दें कि दो नाबिलिकों के ऊपर हुए अत्याचार और सामाजिक प्रताड़ना के चलते नाबालिक पीड़ित परेशान है । एक मामला जिले के अंचल क्षेत्र सेंदुरखार का है जहाँ एक नाबालिक ने अपने साथ हुए अत्याचार के विरुद्ध आवाज उठाने के चलते सामाजिक बहिष्कार और अर्थ दण्ड का शिकार हुई है बता दें कि मामला छेड़छाड़ का था जिसमे अर्जुन यादव नामक व्यक्ति ने नाबालिक के साथ छेड़छाड़ और हाथ मारने का आरोप नाबालिक ने लगाया था जिस बात को नाबालिक ने न्याय पाने की आस में सामाज और पंचायत को ज्ञात कराया जिसमें कुछ सामाजिक लोगों और पंचायत द्वारा पीड़िता को गलत और चालचलन ठीक नही बताकर नाबालिक और उनके परिवार वालों को से अर्थ दण्ड के रूप में कुछ पैसे और बकरा भात खिलाने का दण्ड दे दिया गया था साथ ही पीड़ित नाबालिक का सिर भी मुंडवा दिया था जिसके बाद मामले में न्याय नही मिलने पर बात थाना कुकदूर में आया फिर कबीरधाम पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेंद सिंह के कार्यवाही में आरोपी अर्जुन यादव के साथ साथ कुल 14 लोगों के ऊपर कार्यवाही कर जेल भेजा गया था ।

जिसके बाद महिला आयोग के जिला प्रभारी रेखा मेश्राम सदस्य ममता साहू द्वारा आज पीड़िता के घर जाकर उनकी और परिवार वालों की हिम्मत बढ़ाई साथ ही नाबालिक को जिला मुख्यालय के छात्रावास में भर्ती कराकर शिक्षा दिलाने की ओर ध्यान और सहयोग करने की बात कही गई है । तो दूसरा मामला है ग्राम पोंडी थाना बोड़ला का जहाँ एक 15 वर्षीय नाबालिक के साथ उनके ही 60 वर्षीय दादा ने अपने ही पोती को दरिंदगी दिखाते हुए नाबालिक को लगभग 2 वर्षों से हवस का शिकार बना रहा था जिसके चलते नाबालिक ने अपने ही दादा के कुकर्म के चलते जिला चिकित्सालय कवर्धा में एक बच्ची को जन्म दिया था और फिर मीडिया और महिला बाल विकास,सखी वन स्टाप कवर्धा के बीच यह बात सामने आई तब बाद नाबालिक को महिला बाल विकास के द्वारा संरक्षण और देख भाल में लेते हुए कार्यवाही के लिए कदम आगे बढ़ाया गया । तब कबीरधाम पुलिस अधीक्षक के माध्यम से पता चला कि इसी मामले में आरोपी को दिनांक 20.06.17 को जेल भेजा जा चुका है साथ ही विशेष न्यायाधीश पोस्को एक्ट जिला कबीरधाम ने दिनांक 09.10.17 को दोष मुक्त भी कर दिया है जिसके बाद से कबीरधाम पुलिस के निर्देश अनुसार थाना बोड़ला sdop को हाइकोर्ट में दोष मुक्त के खिलाफ अपील करते हुए अपीली अधिकारी नियुक्त किया गया है ।

इन मामलों को लेकर राज्य महिला आयोग जिला प्रभारी रेखा मेश्राम सदस्य ममता साहू द्वारा पीड़िता और उनके परिवार वालों को न्याय दिलाने व सहयोग करने की सोच से मुलाकात कर आरोपियों को सजा दिलाने के लिए भीड़ चुकी है ।

error: Content is protected !!