छत्तीसगढ़ के युवा लेंगें अपने साथ हुए छल का बदला – डॉ.अरुण कुमार पाण्डेय

 

छत्तीसगढ़ में पढ़े-लिखे बेरोजगारों की संख्या एकसाल में 19 लाख से बढ़कर हुई 24 लाख दुर्ग टॉप पर तो बिलासपुर का नंबर तीसरा

(रायपुर) शिवसेना – छत्तीसगढ़ के तेजतर्रार युवानेता डॉ. अरुण कुमार पाण्डेय ने फिर एक बार सरकार को आड़े हाथों लेते आरोप लगाया हैकि आम चुनावों के समय राज्यसरकार व केंद्र सरकार दोनों के द्वारा “लोकलुभावन नारों व जुमलों के साथ चुनाव प्रचार करके युवाओं को रोजगार व अच्छे दिन का लॉलीपॉप खिलाया गया उस वक़्त युवाओं को लगा था की शायद अब उनके लिए रोजगार के दरवाजे खुल जाएंगे।” और उन्होंने इन पर विश्वास करके सत्ता तक पहुंचा दिया, पर हुआ उसके उलट प्रधानमन्त्री मोदी के दिखाए सपने की हवा निकल गयी । नोटबंदी ने तो हालात और भी बुरी कर दी है। हाल में आयी छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी के आंकड़ें बताती हैं कि रोजगार के अवसर लगातार कम होता जा रहा है और बेरोजगार युवाओं की फ़ौज लगातार बढ़ती जा रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले एकसाल में छत्तीसगढ़ में बेरोजगारोंका आंकड़ों का ग्राफ तेजी से ऊपर बढ़ा है | डॉ. पाण्डेय ने कहा हैकि अब छत्तीसगढ़ राज्य के ये छले गए युवा अब युवासेना के साथ हैं व इस आमचुनाव में स्वयं से हुए छल का बदला लेने के लिए पुरजोर तैयारी में लग गए हैं।

वर्ष 2017-18 मार्च में 19 लाख 53 हजार 556 दर्ज की गई थी, जो आज बढ़कर 23 लाख 80 हजार 161 लोग पढ़-लिखकर भी बेरोजगार हैं. बेरोजगारों का ये आंकड़ा उन लोगों का है, जिन्होंने रोजगार कार्यालय में अपना रजिस्ट्रेशन कराया है.पिछले एकसाल में प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या में तक़रीबन 4 लाख 26 हजार 610 का इजाफा हुआ है | छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में बेरोजगारों की संख्या सबसे ज्यादा है. दुर्ग में 309529 रजिस्टर्ड बेरोजगार हैं | दूसरे नंबर पर राजनांदगांव में 190307 और तीसरे नंबर पर बिलासपुर में 184640 युवा बेरोजगार हैं | इसी तरह से रायगढ़ में 177132, बालोद में 130814, जांजगीर-चांपा में 122142, राजधानी रायपुर में 120287 पढ़े-लिखे बेरोजगार हैं. इसी तरह बलौदाबाजार जिले में 102198, कोरबा में 90 हजार 257, अंबिकापुर में 90 हजार 273, बीजापुर में 10217, धमतरी में 90611, दंतेवाड़ा में 35216, जगदलपुर में 55541, जशपुर में 76044, कांकेर में 79727, कवर्धा में 50318, कोरिया में 33729, महासमुंद में 41249, नारायणपुर में 17143, बेमेतरा में 59814, बलरामपुर में 47223, गरियाबंद में 40359, कोंडागांव में 63257, मुंगेला में 79742 और सूरजपुर जिले में संख्या हजारों में हैं।

error: Content is protected !!