व्हीआईपी बारात की सुरक्षा में हलाकान आरपीएफ

०० नियमित यात्रियों के लिए बिलासपुर रेल्वे द्वारा नही दिया जाता सुरक्षा के इंतजाम वही वीआईपी शादी के लिए जेड प्लस जैसी दी जाती हैं सुरक्षा

बिलासपुर। दुर्ग से छपरा चलने वाली सारनाथ एक्सप्रेस में व्हीआईपी बारात के कारण भारी सुरक्षा व्यवस्था रही है। आम यात्रियों को साधारण दर्जे से लेकर ऐसी बोगी तक में सुरक्षा मोहईया न कराने वाली आरपीएफ 9 तथा 11 फरवरी को 11 तथा 12 नंबर की बोगी में एक बारात में एक-एक यात्री की चिन्ता कर रही थी। सारनाथ ट्रेन पर इस काम के लिए आंतिरक सुरक्षा नियंत्रण कक्ष गोरखपुर से बकायदा चार मंडल के सुरक्षा आयुक्त को एक पत्र भेजा गया जिसकी एक काॅपी दिल्ली मंत्रायलय को भी भेजी गई है। यह पत्र उत्तर मध्य रेल्वे इलाहाबाद, पश्चिम मध्य रेल्वे जबलपुर, दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे बिलासपुर, उत्तर रेल्वे की बड़ौदा कार्यालय को स्काॅर्ट ड्यिूटी के लिए पत्र भेजा गया था। 15159 नंबर की गाड़ी जब 9 तारिख को जब छपरा से दुर्ग के लिए रवाना हुई तब इसमें 72 व्हीआईपी बराती यात्रा कर रहे थे। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में ये बारात किसके घर गई इसकी जानकारी नही हैं। हां इतना जरूर पता चला की यह बारात 45 यात्रियों के साथ वापस हो चुकी हैं। आरपीएफके कमांडेड से जब सुरक्षा की जानकारी ली गई तब उन्होंने इसे सामान्य बताया। वैसे रेल्वे ग्रुप टुर पर जाने वाले महिला यात्री युथ दल के लिए सुरक्षा करती है। किन्तु किसी बारात की विशेष सुरक्षा वह भी चार-चार मंडल में कार्यालिन आदेश जारी की जाती हो ऐसा कभी नही देखा गया।

error: Content is protected !!