75 वर्षीय दरिंदे के कुकर्म से नाबालिक नातिन ने दिया बच्ची को जन्म

 

(रवि ग्वाल) कवर्धा- 75 वर्ष के बूढे ने अपने ही नाबालिक नातिन को बनाया हवस का शिकार मिली जानकारी के अनुसार 75 साल का बूढ़ा दरिंदा लगातार सालों से कर रहा था अपने ही पोती का शारीरिक शोषण नाबालिक की उम्र अभी 14 वर्ष है साथ ही इस बात का खुलासा तब हुआ जब नाबालिक लड़की से मुलाकात करने अपने सास ससुर के यहां गई उसकी माँ जहाँ नाबालिक ने अकेले मौका पाकर अपने माँ से मुलाकात कर इस बात की जानकारी दी कि उनके साथ ऐसा गलत कृत्य होता है जिसके बाद नाबालिक और उसकी माँ सीधा शिकायत को लेकर पहोचे बोड़ला थाना जहाँ इस बात का खुलासा किये और पुलिस द्वारा नाबालिक की मुलाजा जांच में सामने आया कि नाबालिक पेट से है साथ ही आरोपी को पुलिस द्वारा कार्यवाई करते हुए जेल भी भेज दिया गया था मगर आरोपी 4 महीने बाद कोर्ट से जमानत पर रिहा हो गया फिर कुछ महीने बीतने के बाद जब नाबालिक दर्द से परेशान हुई और उसे चेकअप के लिए फिर जिला चिकित्सालय कवर्धा लाया गया जिसके बाद नर्सो ने उनके परिवार को हैरान करने वाला खुलासा किया कि नाबालिक पेट से है साथ ही आखरी महीने और तारीख आ गया है और उसे डिलीवरी के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती भी किया गया जहाँ नाबालिक ने देर समय रात्रि मे एक लड़की को जन्म दिया साथ ही नाबालिक ने अपने परिवार वालों को इस बात का भी खुलासा किया कि उनके 75 वर्षीय दादा उनको पहले जबरदस्ती नशीली पदार्थ का सेवन कराता था फिर उनके साथ जबरदस्ती करता था । 14 वर्षीय नाबालिक की माँ का कहना था कि लड़की जब भी इस बारे में अपनी माँ को बताने की बात अपने दरिंदा दादा और दादी से करती थो तो उसके साथ मार पीट गाली गलौच और जांकु हसिया दिखाकर जान से मारने की धमकी दिया करते थे जिसके डर से नाबालिक ने किसी को कुछ नही बताया था लेकिन लोगों और विभाग में इस कुकर्म का खुलासा तब हुआ जब 14 वर्षीय नाबालिक पेट दर्द से कुहक़र रही थी और आखरी दिन आ गया था । साथ ही मिली जानकारी के अनुसार नाबालिक और उनकी माँ को घर वाले परिवार से अलग कर दिए थे और पीड़ित परिवार ग्राम पोंडी में रहकर अपने मजदूरी कर अपना घर चलाते थे और जीवन यापन करते थे मगर आरोपी बालम गोस्वामी भोरमदेव में अपने परिवार के साथ रहता था और दुकान चलाता था मगर कवर्धा से कुछ कुछ सामान लाने के बहाने से पीड़ित परिवार के यहाँ आता रुकता साथ ही जबरदस्ती नाबालिक को अपने साथ लेकर चला जाता और अपने साथ सालों तक अपने पास रखता था । इस बात की जानकारी मिलने पर कवर्धा महिला एंव बाल विकास सखी वन स्टाप सेंटर ने नाबालिक को अपने संरक्षण में ले लिया है साथ ही आरोपी बालम गोस्वामी उम्र 75 और बालम की पत्नी के ऊपर कड़ी कार्यवाही कराने में जुट गई है । उसी ओर कबीरधाम पुलिस अधीक्षक लाल उमेंद सिंह का कहना है कि पूर्व में भी इसी मामले को लेकर बालम गोस्वामी 4 महीने जेल में भी था फिर उनको कोर्ट ने जमानत दे दिया जिसके बाद से हमने भी कोर्ट में अपील की है ।

error: Content is protected !!