विधानसभा सत्र : गायों की मौत पर सदन में गहमा-गहमी, विपक्ष ने किया बर्हिगमन  

 ०० विपक्ष ने लगाया आरोपगौशालाओं में हो रही गायों की मौत, सरकार पशु क्रूरता अधिनियम के तहत नहीं कर रही कार्रवाई

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के दौरान शुक्रवार को गौशालाओं में गायों की मौत का मामला विपक्ष ने उठाया। इससे सदन में दोनों पक्षें के बीच गहमा-गहमी का माहौल बन गया। इससे नाराज विपक्ष ने सदन से बर्हिगमन कर दिया। इसके साथ ही विपक्ष ने सदन में नारे-बाजी भी की।
विपक्षी विधायक दीपक बैज ने सदन में एक प्रश्न के माध्यम से कहा कि, प्रदेश में किन-किन गौशालाओं को कितना अनुदान दिया गया है, और अनुदान में जो गड़बड़ी हुई है। उसमें क्या कार्रवाई की जाएगी। जवाब में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, पात्रता के आधार पर गौशालाओं को अनुदान दिया जाता है, जिसके बाद दीपक बैज ने कहा कि, जिन गौशालाओं में एक भी गाय नहीं थी। वहां क्यों अनुदान दिया गया, इस सवाल को सिरे से खारिज करते हुए मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, ऐसे किसी भी गौशालाओं को अनुदान नहीं दिया गया है। इस जवाब के बाद विपक्ष बिफर पड़ा। विपक्ष ने आरोप लगाया कि, गौशालाओं में गायों की मौत हो रही है और सरकार पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्रवाई नहीं कर रही है। जवाब में मंत्री ने कहा कि, पखांजुर के अलावा दुर्ग के कुछ गौशालाओं में पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

 

 

error: Content is protected !!