विधानसभा : प्रदेश में 124 अधिकारी-कर्मचारी फर्जी सर्टिफिकेट से कर रहे नौकरी

०० प्रश्नकाल में विधायक देवजी भाई पटेल ने उठाया मामला, मंत्री केदार कश्यप ने दिया जवाब

रायपुर। प्रदेश में फर्जी सर्टिफिकेट से नौकरी करने के कई मामले अब तक उजागर हो चुके हैं, लेकिन शुक्रवार को विधानसभा के बजट सत्र के दौरान कुछ और ही नजारा देखेने को मिला। सरकार ने यह बात स्वीकारा है कि, प्रदेश के 124 अफसर और कर्मचारी फर्जी सर्टिफिकेट से अपनी सेवा दे रहे हैं। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी भी शामिल हैं। सरकार उनके प्रमाण पत्रों की जांच कर रही है।
आदिमजाति कल्याण मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि, 124 अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ फर्जी प्रमाण की जांच हो रही है। इससे पहले दिसंबर-2017 तक फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले में 98 लोगों के प्रमाण पत्र की जांच की गई है, जिनमें से 59 अधिकारी-कर्मचारी को दोषी पाया गया है। प्रश्नकाल में विधायक देवजी भाई पटेल ने इस मामले को उठाया। हालांकि जिन 59 लोगों पर की गई कार्रवाई की लिस्ट विधानसभा में दी गई है, उनमें अजीत जोगी का भी नाम है।

 

error: Content is protected !!