निविदा के माध्यम से निर्माण कार्य लेने वाले ठेकेदारों द्वारा निर्माण कार्य प्रारंभ नही करने पर होंगें ब्लैक लिस्टेड

सभी निर्माण कार्यो को होगा भौतिक सत्यापन

अपूर्ण कार्यो पूरा नही होने पर निर्माण एजेसियों को लगाई फटकार                                                             निर्माण कार्य गुणवत्ता विहीन पाए जाने पर होगी निर्माण एजेंसियों के विरूद्व सख्त कार्रवाई

चंद्रकांत गढ़वाल (कोरिया) बैकुण्ठपुर कलेक्टर नरेन्द्र कुमार दुग्गा ने आज जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में निर्माण एवं विकास विभाग के अधिकारियों की मैराथन बैठक लेकर निर्माण और विकास कार्यो की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में दुग्गा ने कहा कि निर्माण कार्य आम लोगो की सुविधा के लिए स्वीकृत की जाती है। निर्माण कार्य निर्धारित अवधि में ही पूरा होने पर ही उनकी उपयोगिता सार्थक होती है। उन्होनें कहा कि निविदा के माध्यम से निर्माण कार्य लेने वाले ठेकेदारों द्वारा यदि निर्धारित अवधि में निर्माण कार्य प्रारंभ नही करते है तो जनता का विश्वास संबंधित विभागों के प्रति नही रह जाता। इस हेतु उन्होनें निर्माण कार्य प्रारंभ नही करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करने के लिए संबंधित निर्माण विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये। बैठक में दुग्गा ने कहा कि आम लोगो की समन्वित विकास के लिए विभिन्न योजनाओं के तहत निर्माण और विकास कार्य किये जा रहे है। उन्होनें कहा कि उनके द्वारा समय-समय पर निर्माण और विकास कार्यो की आकस्मिक निरीक्षण किया जा रहा है। उन्होनें कहा कि निर्माण कार्य यदि गुणवत्ता विहीन पाए जाते है तो संबंधित निर्माण एजेंसियों के विरूद्व सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी। उन्होनें निर्माण कार्यो को पूर्ण गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय-सीमा में पूरा करने के निर्देश दिये।

बैठक में दुग्गा ने कहा कि सभी निर्माण कार्यो की भौतिक सत्यापन की जायेगी और उन्होनें संबंधित निर्माण विभाग के अधिकारियों को पूर्ण हुए निर्माण कार्यो का फोटो ग्राफस के साथ कार्य उपयोगिता प्रमाण पत्र भेजने के निर्देश दिये। बैठक में दुग्गा ने स्वीकृत कार्यो की जानकारी प्राप्त की। उन्होनें प्रशासकीय स्वीकृति जारी होने के पश्चात भी निर्माण कार्य प्रांरभ नही होने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की और उन कार्यो को निरस्त करने के भी निर्देश दिये। इसी तरह उन्होनें अपूर्ण निर्माण कार्यो की जानकारी प्राप्त की। उन्होनें कहा कि वर्श 2015-16 के कई निर्माण एवं विकास कार्य अपूर्ण होने पर अपनी अप्रसन्नता व्यक्त की और निर्माण एजेंसियों को फटकार लगाते हुए अपूर्ण निर्माण कार्य को यथाशिध्र पूरा करने के निर्देश दिये। बैठक में दुग्गा ने सरगुजा एवं उत्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण एवं अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण और राज्य ग्रामीण विकास प्राधिकरण के कार्यो की भी समीक्षा की। उन्होनें कहा कि प्राधिकरण के कार्यो की समीक्षा सीधे मुख्यमंत्री द्वारा की जाती है। उन्होनें प्राधिकरण के कार्यो को भी निर्धारित अवधि में पूरा करने के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होनें सांसद एवं विधायक मद से स्वीकृत, निर्मित और निर्माणाधीन कार्यो की जानकारी प्राप्त की। उन्होनें स्वीकृत कार्यो को शीध्र प्रारंभ करने, निर्मित कार्यो का कार्य उपयोगिता प्रमाण प्रेशित करने और निर्माणधीन कार्यो को पूर्ण गुणवत्ता के साथ पूरा करने के निर्देश दिये।

बैठक में दुग्गा ने मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह द्वारा की गई घोषण के निर्माण कार्य की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होनें मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा का कार्य पूर्ण गुणवत्ता एवं पारदर्षिता के साथ पूरा करने के निर्देश दिये। बैठक में दुग्गा ने बी.आर.जी.एफ और आई.ए.पी योजना के तहत निर्मित कार्यो की जानकारी प्राप्त की। बैठक में उन्होनें कहा कि समस्त निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता को संबंधित कार्यो का सतत् निरीक्षण करने के निर्देश दिये और उन्हें निर्माण कार्यो की गुणवत्ता की जानकारी उपलब्ध कराने तथा निर्माण कार्य में सन्तुष्ट होने पर ही निर्माण कार्यो का भुगतान करने के निर्देश दिये। बैठक में दुग्गा ने निर्माण कार्यो में कई स्थानों पर साइड फिलिंग नही होने पर अपनी अंसतोश व्यक्त किया और संबंधित निर्माण एजेंसियों को निर्माण कार्यो में साइड फिलिंग करने के निर्देश दिये। बैठक मे उन्होनें विभिन्न निर्माण विभाग के अधिकारियों से कई निर्माण कार्यो की प्रशासकीय स्वीकृति, निविदा की तिथि और कार्य प्रारंभ होने की तिथि की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होनें कहा निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रशासकीय स्वीकृति, निविदा की तिथि और कार्य प्रारंभ होने की तिथि की जानकारी नही होने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की और भविश्य में पूरी जानकारी के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिये। इसी तरह दुग्गा ने नगरीय निकायों में स्वीकृत निर्मित और निर्माणाधीन कार्यो की जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तुलिका प्रजापति, आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त एल.आर.कुर्रे, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के कार्यपालन अभियंता सहित बडी संख्या में विभिन्न निर्माण एवं विकास विभाग के सहायक अभियंता, और उप अभियंता उपस्थित थे।

error: Content is protected !!