ओवरब्रिज पर सेल्फी लेना युवक को पड़ा महंगा

हाईटेंशन तार की चपेट में आकर गंभीर रूप से झुलसे युवक को भेजा गया मेडिकल कॉलेज

बैकुंठपुर कोरिया जिले के ग्राम पंचायत उजियारपुर स्थित नेशनल हाइवे -43 के रेलवे ओवरब्रिज पर मोबाइल से सेल्फी लेते समय युवक का अचानक पैर फिसल गया और रेलवे के हाइटेंशन तार की चपेट में आ गया। हादसे में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। युवक को गिरा देख एक व्यक्ति ने उसका सीना दबाया तथा मुंह में सांस भरी।

इससे युवक की सांस चलने लगी। यही नहीं उक्त व्यक्ति ने समय पर संजीवनी 108 नहीं पहुंचने पर अपनी गाड़ी से उसे अस्पताल भिजवाया। यहां उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है।

कोरिया जिले के चिरिमिरी गोदरीपारा निवासी राज पिता मिथलेश यादव अपने दादा के घर ग्राम पंचायत उजियारपुर आया था। उजियारपुर के रेलवे ब्रिज मे अपने मोबाइल से सेल्फी ले रहा था। इसी दौरान अचानक उसका फर फिसल गया और वह सीधे रेलवे के हाईटेंशन तार की चपेट में आ गया। तरंगित तार की चपेट में आने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के बाद आस-पास के ग्रामीण बड़ी संख्या में जुट गए थे। स्थानीय ग्रामीणों की मदद से जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है। अस्पताल के डॉक्टर ने उपचार शुरू कर दिया है। इधर कुछ लोगों का कहना है कि युवक सेल्फी नहीं ले रहा था जबकि कुछ सेल्फी लेना बता रहे हैं।

मुंह से सांस देने पर धड़कन चली
स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि हाईटेंशन तार की चपेट में आने से युवक जमीन पर गिर गया था और उसकी सांस रुक गई थी। मामले में स्थानीय स्टोन क्रशर संचालक दुर्गेश पाण्डेय ने गंभीर रूप से घायल युवक का सीना दबाया और मुंह से सांस दी, जिससे युवक की सांसें चलने लग गई। इसके अलावा क्रशर संचालक ने संजीवनी एक्सप्रेस नहीं आने पर अपने निजी वाहन से घायल युवक को जिला अस्पताल पहुंचवाया।

error: Content is protected !!