मेकाहारा में स्मार्ट कार्ड जप्ती गैर क़ानूनी, शासकीय अस्पताल करे मुफ्त ईलाज : जोगी कांग्रेस

रायपुर| छतीसगढ़ सरकार द्वारा बनाये गये स्वास्थ बीमा कार्ड का शासकीय अस्पताल में ईलाज के दौरान अस्पताल प्रशासन द्वारा जबरदस्ती जप्त किये जाने का जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे एवं संजीव अग्रवाल ने राज्य शासन के इशारे पर अस्पताल प्रशासन द्वारा प्रायोजित लूट कहा है |

प्रवक्ता द्वय ने कहा कि शासकीय अस्पताल प्रदेश के गरीबो, जरुरतमंदो के मुफ्त ईलाज के लिए खोला जाता है न कि व्यापार करने के लिए किन्तु राजधानी के सबसे बड़े अस्पताल मेकाहारा रायपुर में मरीज के रजिस्ट्रेशन के पश्चात् वार्ड में शिफ्ट करते ही  वार्ड के कर्मचारियो द्वारा स्मार्टकार्ड जप्त कर लिया जाता है जो गैरकानूनी किन्तु राजधानी के आला अधिकारियो के जानकारी व सहमती से जप्त किया जाता है |

प्रवक्ता द्वय ने कहा कि मरीज के ईलाज के पश्चात्  डिस्चार्ज होने के बाद अस्पताल कर्मियों द्वारा जप्त स्मार्ट कार्ड गुम हो जाने के अनेको मामले प्रतिदिन प्रकाश में आते है |प्रवक्ता द्वय ने कहा कि डॉ. रमन सिंह सरकार के 14 वे वर्ष में सरकार अराजकता फैला रही है, शासकीय अस्पताल में मरीजो के ईलाज के स्वर पर एक ओर जहां बड़ी गिरावट आयी है वही शासकीय अस्पताल निजी अस्पताल के तर्ज पर प्रत्तेक ईलाज के पूर्व प्रत्तेक ईलाज कि राशि जमाकर रसीद दिखाने के पश्चात् ही ईलाज कि बात करता है | जिसके कारण अनेक निर्धन व ख़राब माली स्थिति वाले मरीज वार्ड के बहार फर्श में पड़े रहते है एवं उनके परिजन जाँच के लिए रुपयों की व्यवस्था में मारे मारे फिरते है,प्रवक्ता द्वय ने शाशन व अस्पताल प्रशासन को आगाह करते हुए कहा कि शासन का प्रथम दायित्व आम लोगो को तुरंत सुलभ एवं मुफ्त इलाज उपलब्ध कराना है न कि इलाज के नाम पर पहले जाँच की फीस जमाकर रसीद बटोरने से है, यदि सरकार अपने नियम को तत्काल बदलकर आमजनों को मुफ्त इलाज तत्काल उपलब्ध कराने का नियम नहीं बनाती है तो जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य मंत्री का घेराव किया जायेगा|

 

error: Content is protected !!