राजिम कुंभ के नाम भाजपा सरकार कर रही फिजूल खर्च : कांग्रेस

रायपुर| कुंभ भारतभूमि का, सनातन हिन्दु धर्म का सबसे बड़ा आयोजन होता है। ‘कुंभ’ धर्म-कर्म-आचार-विचार-संस्कार सभी का संगम है। हिन्दु विचारधारा में कुंभ मोक्ष का प्रमुख माध्यम है। अदृष्य धार्मिक ताकतों का आर्शीवाद ऐसे धार्मिक आयोजनों में होता रहा है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने जारी बयान में कहा है कि कुंभ का मजाक बनाना भाजपा ने छत्तीसगढ़ से शुरू किया। मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने राजिम के पुन्नी मेले को राजिम कुंभ में बदलने का कुंठित प्रयास करते रहे है। भगवान राजीव लोचन के नाम स्थित धर्मनगरी राजिम में छत्तीसगढ़ की जनता आपार आस्था रखती है जिसे प्रदेश की भाजपा सरकार ने धर्म के आड़ पर राजनैतिक एवं स्वयं प्रचार का माध्यम बना लिया है। आयोजन के नाम पर अपने चहेतो, पार्टी कार्यकर्ताओं को उपकृत करने की मंशा से करोड़ो रूपये का भ्रष्टाचार प्रतिवर्ष धड़ल्ले सेे किया जा रहा है।

भाजपा और संघ सनातन हिंदु धर्म को लगातार नुकसान पहुंचा रहे हैं। विगत वर्ष संघ और मोदी ने वैचारिक कुंभ का आयोजन कर पाखंड करने का प्रयास किया था। अपनी विचारधाराओं सनातन हिंदु संघ और भाजपा के वैचारिक कुंभ में देश, प्रदेश की निर्वाचित सरकारों ने भूमिका निभायी थी। वैचारिक कुंभ में राजसत्ता, धर्मसत्ता को निर्देशित करने का दुस्साहस करती है कि धर्म, स्त्री, सृष्टि पर विचार करंे। राजसत्ता का यह धर्मसत्ता को आदेश है। मंच पर केंद्रस्थ राजसत्ता के धर्मसत्ता पर काबिज होने की खतरनाक कोशिश वैचारिक कुंभ में की गयी थी।
कुंभ का मजाक बनाना छत्तीसगढ़ से प्रारंभ हुआ। हमारी आस्था के महान प्रतीक कुंभ का भाजपा, संघ ने अपमान किया और आस्था के नाम पर लगातार जनता की गाढ़ी कमाई का फिजूल खर्च कर रहें है।

 

error: Content is protected !!