छत्तीसगढ़ के प्रथम राज्यपाल दिनेश नंदन सहाय का निधन

०० मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन ने प्रकट किया गहरा दुःख

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पहले राज्यपाल दिनेश नंदन सहाय का सोमवार को लंबी बीमारी के बाद अपने गृहनगर मधेपुरा में देहांत हो गया। गौरतलब है कि सहाय वर्ष 2000 से 2003 तक छत्तीसगढ़ के राज्यपाल थे।

दिनेश नंदन सहाय का जन्म 2 फरवरी 1936 को हुआ था। छत्तीसगढ़ का राज्यपाल रहने के अलावा वे त्रिपुरा के भी राज्यपाल रह चुके हैं। पढ़ाई पूरी करने के बाद 1960 में उनका चयन भारतीय पुलिस सेवा में हो गया।उन्होंने बिहार के डीजीपी के रूप में भी कार्य किया। एक बेटे और दो बेटियां के पिता दिनेश नंदन सहाय को 2003 में त्रिपुरा का भी गर्वनर बना दिया गया था। दिनेश नंदन सहाय का जन्म मधेपुर के एक मध्य वर्गीय परिवार में हुआ था।

मुख्यमंत्री ने श्री सहाय के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया :- मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के प्रथम राज्यपाल रह चुके श्री दिनेश नंदन सहाय के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने स्वर्गीय श्री सहाय के परिवार के प्रति अपनी अपनी ओर से तथा छत्तीसगढ़ की जनता की ओर से संवेदना प्रकट की है और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। डॉ. रमन सिंह ने आज रायपुर में जारी शोक संदेश में कहा है कि नवम्बर 2000 में नये छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के बाद यहां के प्रथम राज्यपाल के रूप में श्री सहाय ने   कुशल प्रशासनिक दक्षता के साथ जनता को अपनी मूल्यवान सेवाएं दी। स्वर्गीय श्री सहाय ने त्रिपुरा के राज्यपाल के रूप में भी काम किया। डॉ. रमन सिंह ने कहा  स्वर्गीय श्री सहाय एक कुशल प्रशासक थे। छत्तीसगढ़ प्रदेश के विकास के लिए उन्होंने हमेशा सरकार का पथ-प्रदर्शन किया। ज्ञातव्य है कि श्री दिनेश नंदन सहाय का आज उनके गृह नगर मधेपुरा (बिहार) में निधन हो गया। वे वर्ष 2000 से 2003 तक छत्तीसगढ़ के राज्यपाल रह चुके थे।

श्री सहाय के निधन पर राज्यपाल श्री टंडन ने व्यक्त की गहरी संवेदना :- राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन ने छत्तीसगढ़ के प्रथम राज्यपाल श्री दिनेश नंदन सहाय के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। राज्यपाल श्री टंडन ने अपने संदेश में कहा है कि श्री सहाय ने अपने राजनैतिक एवं प्रशासनिक जीवन में एक प्रभावशाली छाप छोड़ी। उन्होंने हमेशा गरीबों, किसानों के हित में कार्य किया। उन्होंने अपनी कार्यशैली से सभी को प्रभावित किया। श्री टंडन ने स्वर्गीय श्री सहाय के शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें इस दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने और मृत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।उल्लेखनीय है कि श्री दिनेश नंदन सहाय, छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद 01 नवंबर वर्ष 2000 से 01 जून 2003 तक छत्तीसगढ़ के राज्यपाल थे।

छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल श्री सहाय के निधन पर एक दिन का राजकीय शोक घोषित :- राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के प्रथम राज्यपाल श्री दिनेश नंदन सहाय के निधन पर आज 29 जनवरी 2018 को एक दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। राजकीय शोक के दौरान सभी शासकीय भवनों एवं जहां पर नियमित रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराये जाते हैं, वहां पर राष्ट्रीय ध्वज झुके रहेंगे। राजकीय शोक की अवधि में सरकारी स्तर पर मनोरंजन के कार्यक्रम नहीं होंगे। सामान्य प्रशासन विभाग ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से इस आशय का परिपत्र विभागाध्यक्षों सहित समस्त संभागीय आयुक्तों और जिला कलेक्टरों को जारी कर दिया गया है।

 

error: Content is protected !!