पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेंद सिंह हुए राष्ट्रपति पदक से सम्मानित

 

( रवि ग्वाल ) कवर्धा – आपको बता दें कि डॉ.लाल उमेंद सिंह जुलाई 2017 में कबीरधाम पुलिस अधीक्षक के रूप में पदस्त होते ही साईकिलिंग पोलिसिंग (आम भाषा मे साईकल वाला पुलिस) जैसे सराहनीय निर्णय के साथ कदम उठाने के लिए अन्य जिले और राज्य पुलिस विभाग ही नही बल्कि जिले के जनप्रतिनिधि व जनताओं ने भी इस कार्य के लिए पुलिस अधीक्षक डॉ.लाल उमेंद सिंह को बधाई दिए व जिले में पहला कार्य के लिए सम्मानित कार्य के लिए बहुचर्चित हुए । तथा पुलिस अधीक्षक लाल उमेंद सिंह और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंत कुमार की जोड़ी ने अंचल क्षेत्र के लोगों के मन मे पुलिस के लिए एक अच्छा छवि बनाने में ही नही बल्कि नक्सल क्षत्रों में भी बेहतर कार्यों व सुरक्षा को अंजाम दिया जा रहा है ।

उससे पूर्व में डॉ.लाल उमेंद सिंह वर्ष 1996 में उप पुलिस अधीक्षक के पद पर नियुक्त होकर जिला दुर्ग में प्रशिक्षण उपरान्त जिला बस्तर में पदस्थ रहकर नक्सल विरोधी अभियान के तहत 4 नक्सलियों को मार गिराने में सफलता प्राप्त किये थे । जिसके बाद जिला दुर्ग में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी एवं नगर पुलिस अधीक्षक के पद पर पदस्थ रहकर औद्योगिक क्षेत्र एवं राष्ट्रीय मार्ग की कानून व्यवस्था एवं दुर्ग से रायपुर के मध्य राष्ट्रीय राजमार्ग के फोरलेन निर्माण में अतिक्रमण हटाने कानून व्यवस्था बनाने में सहयोग व जिले में अपराधों के रोकथाम करने में महत्वपूर्ण योगदान दिए । बाद जिला सरगुजा में नगर पुलिस अधीक्षक अम्बिकापुर के पद पर पदस्थ रहकर विभिन्न गंभीर अपराधों की विवेचना , साथ अंतर राज्यीय अपराधियों को गिरफ्तार करने एवं नक्सल विरोधी अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गयी , वर्ष 2006 में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर पदोन्नत होकर रायगढ़ में पदस्थ रहकर औद्योगिक क्षेत्र में कानून व्यवस्था , विभिन्न प्रकार के वन्य प्राणी अधिनियम के तहत कार्यवाही व गंभीर अपराधों की विवेचना , एवं अपराधों की रोकथाम करने में महत्वपूर्ण भूमिका रही , बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायपुर , रायपुर में वर्ष 2007 से 2009 एवं 2010 से 2013 तक पदस्थ रहते हुवे राजधानी की कानून व्यवस्था , गंभीर अपराधों की विवेचना एवं रोकथाम साथ वीवीआईपी / वीआईपी सुरक्षा , एवं वर्ष 2009 से 2010 तक पुलिस मुख्यालय में योजना प्रबंध शाखा में पदस्थ रहकर विभिन्न अर्धसैनिक बलों को राज्य के नक्सल इलाकों में तैनाती के दौरान आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराने में उल्लेखनीय कार्य किया । फिर वर्ष 2013 से 2015 तक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा के पद पर पदस्थ रहकर औद्योगिक इलाकों में कानून व्यवस्था बनाने गंभीर अपराधों के निराकरण एवं समुदायिक पुलिसिंग में विशेष कार्य किया , बाद 2015 से जुलाई 2017 तक पुलिस मुख्यालय के विशेष सूचना शाखा में पदस्थ रहते हुवे नक्सल आसूचना एवं नक्सल विरोधी अभियान में उत्कृष्ट कार्य किया जिसके पश्चात 2017 से छ.ग. के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के गृह जिले में पुलिस अधीक्षक कबीरधाम के पद पर पदस्थ नक्सल विरोधी अभियान , एवं सामुदायिक पुलिसिंग में उत्कृष्ट कार्य किया जा रहा है । उपरोक्त कार्यों को परिणामस्वरूप देखते हुए सराहनीय सेवा के लिए डॉ. लाल उमेद सिंह को तत्कालिन पुलिस अधीक्षक कबीरधाम में रहते हुए राष्ट्रपति पुलिस पदज से सम्मानित होने का गौरव प्राप्त हुआ । साथ ही कबीरधाम जिले के पुलिस परिवार व देश के चौथे स्तंभ के रूप में कार्य करने वाले पत्रकारगणों से भी सम्मानित हुए ।

error: Content is protected !!